पाकुड़िया (पाकुड़) : पाकुड़िया प्रखंड के धोबना, बीचपहाड़ी व बथानपहाड़ी गांव में डायरिया फैल गया है। इससे लगभग 20 लोग आक्रांत है। सभी इलाज पाकुड़िया सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किया जा रहा है। डायरिया फैलने की सूचना पर एएनएम की टीम धोबना गांव पहुंच गई है। यहां घर-घर जाकर ओआरएस व दवाइयों का वितरण किया गया है।

वहीं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रतिदिन डायरिया पीड़ित पहुंच रहे हैं। इन गांवों में अचानक डायरिया फैलने से ग्रामीण चिंतित हैं। ईद के दूसरे दिन तक डायरिया के 20 मरीज अस्पताल में भर्ती कराए गए थे। स्लाइन चढ़ाने के बाद कुछ मरीजों की तबीयत ठीक हुई। उसे शुक्रवार को ही अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। डायरिया का सबसे अधिक असर धोबना, बथानपहाड़ी व बीचपहाड़ी गांव में देखा गया। शुक्रवार को धोबना गांव के अब्दुल आलम, जायलबुल बीबी, जालगेन खातून, रजिना बीबी, जेलखा बीबी, बथानपहाड़ी गांव के पीए हांसदा तथा बीचपहाड़ी गांव के तालामय हांसदा भर्ती थे। सभी का इलाज चल रहा था। चिकित्सक डॉ. गंगाशंकर साह ने बताया कि ईद के दूसरे दिन विभिन्न गांवों से अचानक डायरिया मरीजों का आना शुरू हो गया। दो दिनों में डायरिया के 20 मरीज भर्ती हुए थे। स्लाइन चढ़ाने के बाद कई मरीजों को छुट्टी दे दी गई। खानपान में गड़बड़ी तथा अशुद्ध पेयजल का सेवन से लोग डायरिया की चपेट में आ गए हैं। इससे बचने के लिए लोगों क्षमता से कम भोजन लेना चाहिए। शुद्ध पानी का सेवन करना चाहिए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप