लोहरदगा, जागरण संवाददाता। लोहरदगा जिले में संचालित 10 दाल-भात केंद्र में गरीब लोगों को काफी फायदा मिल रहा है। लॉकडाउन की घोषणा के बाद जब गरीबों के लिए भोजन की व्यवस्था उपलब्ध नहीं हो रही है तो ऐसे में दाल-भात केंद्र उनके लिए किसी वरदान से कम नहीं है। गरीबों के साथ-साथ पुलिस के जवान भी यहां अपनी भूख मिटाने के लिए पहुंच रहे हैैं। लोग खिचड़ी से ज्यादा दाल-भात को पसंद कर रहे हैैं। ऐसे में ज्यादातर केंद्रों में खिचड़ी के स्थान पर दालभात ही खिलाया जा रहा है।

बड़ी संख्या में भूख मिटाने आ रहे लोग

लोहरदगा शहरी क्षेत्र के कचहरी मोड़, सदर अस्पताल परिसर, रेलवे साइडिंग बस पड़ाव, ब्लॉक मोड़ सहित अन्य प्रखंडों में संचालित दाल-भात केंद्र में बड़ी संख्या में लोग पहुंचकर भोजन का जुगाड़ कर रहे हैं। दाल-भात केंद्र की महिलाएं भी समर्पित रूप से पूरी सुरक्षा और तत्परता के साथ लोगों को दाल- भात उपलब्ध कराने के लिए समर्पित रूप से खड़ी हैं। दाल-भात केंद्र के माध्यम से गरीबों को दो वक्त का अनाज मिल रहा है। विपरीत परिस्थिति में जब लोगों के समक्ष पेट भरने की समस्या उत्पन्न हो गई है, ऐसे में दाल-भात केंद्र उनके लिए काफी राहत प्रदान कर रहा है। राज्य सरकार ने पहले ही घोषणा कर रखी है कि दाल-भात केंद्र के माध्यम से हर जरूरतमंद को भोजन उपलब्ध होगा।

गरीब व जरूरतमंदों को भोजन करा रही लोहरदगा पुलिस

एक तरफ जहां पुलिस दाल-बात केेंद्र पर अपनी भूख मिटा रही हैै वहीं दूसरी ओर कई जगहों पर अपनी समाजिक जिम्मेवारी भी निभा रही है। लोहरदगा पुलिस गरीब व जरूरतमंदों को थाना परिसर में बैठाकर भोजन करा रही है। पुलिस अधीक्षक प्रियदर्शी आलोक के निर्देश पर जिले के सभी थानों में सोशल पुलिसिंग के तहत थानेदार के साथ-साथ पुलिस पदाधिकारी व जवान राहगीरों और मजदूरों को भोजन करा रहे हैं। इस दौरान पुलिस वाले भोजन परोसने से लेकर उन्हें खिलाने तक में शारीरिक दूरी बनाकर रखते हैं।

पुलिस अधीक्षक प्रियदर्शी आलोक का कहना है कि यह कार्य फिलवक्त जारी रहेगा। उन्होंने राहगीर, मजदूर वर्ग के साथ आमलोगों से अपील कर कहा है कि लॉकडाडन के दौरान बेवजह घर से नहीं निकलें, अपने-अपने घरों में सुरक्षित रहें और सरकार व प्रशासन के आदेशों का पालन करते हुए स्वच्छ रहे और खुद के साथ परिवार और समाज के लिए सुरक्षित रहें।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस