लोहरदगा, जासं। कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर लोगों में जागरूकता की अब भी काफी कमी है। इसका ताजा उदाहरण लोहरदगा में देखने को मिला है। शहर के पावरगंज चौक स्थित मध्य विद्यालय लोहरदगा में शनिवार को बच्चों को मध्यान्ह भोजन का चावल देने के लिए स्कूल बुलाया गया। सूचना मिलने पर विद्यालय में लगभग एक सौ बच्चे पहुंच गए। इस बात की जानकारी स्थानीय पुलिस प्रशासन को हुई तो वे तत्काल विद्यालय पहुंचे और बच्चों को सुरक्षित रूप से वापस उनके घर भेजा। इस मामले में जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक रतन कुमार महावर का कहना है कि बच्चे कन्फ्यूजन में स्कूल आ गए थे। बाद में जैसे ही उन्हें जानकारी हुई बच्चों को सुरक्षित रूप से वापस घर भेज दिया गया। डीईओ का कहना है कि शिक्षकों को घर जाकर मध्यान भोजन का चावल बांटने को कहा गया है। इसके लिए उन्हें मास्क और जरूरी अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही टीम बनाकर काम करने को कहा गया है। अपनी सुरक्षा को प्राथमिकता के तौर पर रखने का निर्देश भी दिया गया है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस