जागरण संवाददाता, लोहरदगा : महानवमी पर मां दुर्गा के दर्शन के लिए पूजा पंडालों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। शहरी क्षेत्र के दो दर्जन स्थानों के अलावे जिले में चार दर्जन से ज्यादा पूजा स्थलों में मां दुर्गा के दर्शन के लिए श्रद्धालु पूरे परिवार के साथ पहुंचे थे। भक्तों की भीड़ से पूजा पंडाल रोशन हो गए। सबने अपने परिवार की सुख, शांति और समृद्धि के लिए माता से आशीर्वाद मांगा। भक्तों की भीड़ को देखते हुए पूजा पंडाल में सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए थे। शहर में ऐसी भीड़ उमड़ी थी कि पैदल चलना भी मुश्किल हो गया था। मां दुर्गा के दर्शन करते हुए भक्त काफी ज्यादा उत्साहित नजर आ रहे थे। विगत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष पूजा पंडालों में ज्यादा संख्या में श्रद्धालु पहुंचे थे। पूजा पंडाल और पूजा आयोजन समिति द्वारा सरकार और प्रशासन के निर्देश के अनुसार पूजा पंडाल को तीन ओर से घेरा गया था। साथ ही मास्क पहनकर ही पूजा पंडाल में लोगों को प्रवेश की अनुमति दी जा रही थी। इसके अलावे सैनिटाइजर के उपयोग को भी प्राथमिकता दी गई थी। पूजा आयोजन को लेकर पिछले एक महीने से चल रही तैयारी महानवमी पूजा और भक्तों के दर्शन के साथ ही संपन्न हो गई। जगह-जगह पर पुलिस बल और दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई थी। सेल्फी लेने की मची हुई थी होड़

लोहरदगा : आकर्षक पूजा पंडाल के बाहर सेल्फी लेने के लिए भक्तों की होड़ मची हुई थी। लोग अपने परिवार के साथ सेल्फी लेते हुए नजर आए। हर कोई माता के दर्शन और भव्य पूजा आयोजन को अपने मोबाइल के कैमरे में कैद कर लेना चाहता था। मोबाइल से ली गई तस्वीरों को श्रद्धालुओं ने इंटरनेट मीडिया के माध्यम से दूसरे लोगों के साथ भी शेयर करने का काम किया। एक उत्साह का माहौल चारों ओर दिखाई दे रहा था। केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति के सदस्यों ने किया भ्रमण

लोहरदगा : महानवमी पूजा को लेकर केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति के पदाधिकारियों ने विभिन्न पूजा पंडालों का भ्रमण किया। इस दौरान शहरी क्षेत्र के विभिन्न पूजा पंडालों में पहुंचकर पूजा आयोजन समिति के सदस्यों से मुलाकात की। साथ ही सुरक्षा व्यवस्था और अन्य तैयारियों की समीक्षा की भी की। केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति के अध्यक्ष सुमित राय, महामंत्री अभिषेक किसलय, कोषाध्यक्ष नीरज साहू सहित अन्य पदाधिकारियों ने पूजा पंडाल में पहुंचकर पूजा आयोजन समिति के सदस्यों का हौसला बढ़ाया। अग्निशमन विभाग को रखा गया था अलर्ट पर

लोहरदगा : महानवमी के दौरान पूजा आयोजन भीड़भाड़ और किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए जिला प्रशासन में अग्निशमन विभाग को भी अलर्ट पर रखा था। हर एक परिस्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया था। हालांकि केंद्रीय दुर्गा पूजा समिति द्वारा जिला प्रशासन के निर्देश पर सभी पूजा पंडाल के पदाधिकारियों को अग्निशमन यंत्र उपलब्ध कराया गया था। जिससे कि तत्कालिक रूप से आग पर काबू पाया जा सके। हालांकि जिले में कहीं पर भी किसी प्रकार की घटना नहीं हुई। भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक

लोहरदगा : महानवमी पूजा आयोजन को लेकर भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक रखा गया था। शहर के बक्सीडीपा, शंख नदी मोड़ और बीएस कॉलेज रोड में भारी वाहनों को रोक दिया गया था। जिससे कि श्रद्धालुओं को आने-जाने में किसी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े। महानवमी के दिन दोपहर बाद से ही पूजा पंडाल में श्रद्धालु पहुंचना प्रारंभ हो गए थे। यह सिलसिला आधी रात के बाद तक जारी रहा। शहर की सड़कें रात भर गुजार नजर आ रही थी। प्रशासनिक और पुलिस टीम करती रही भ्रमण

लोहरदगा : पूजा आयोजन और हर एक स्थिति की समीक्षा को लेकर प्रशासनिक और पुलिस की टीम रात भर भ्रमण करती रही। ना सिर्फ शहरी मुख्यालय, बल्कि प्रखंड मुख्यालय और ग्रामीण क्षेत्रों में भी पुलिस प्रशासन की टीम अलर्ट पर थी। जिससे कि किसी भी स्थिति को तत्काल रोका जा सके। इस दौरान पूजा आयोजन समिति के सदस्यों, गणमान्य लोगों और बुद्धिजीवी वर्ग का भी सहयोग लिया गया था। सीसीटीवी कैमरा, ड्रोन कैमरा की सहायता से भी हर एक क्षेत्र में न•ार रखी जा रही थी। पुलिस प्रशासन की टीम ने पूरी सक्रियता के साथ पूजा आयोजन में अपनी भूमिका निभाई है।

Edited By: Jagran