लोहरदगा, जासं। कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर देशव्यापी लॉकडाउन का असर लोहरदगा में पूरी तरह से दिख रहा है। शहरी से साथ-साथ ग्रामीण अपनी जिंदगी बचाने के लिए घर के दरवाजे भी बंद कर लिए हैं। लॉकडाउन में पुलिस की कड़ाई से मनचलों का सैर-सपाटा भी बंद है। वहीं दूसरी ओर रोजी-रोजगार के तलाश में लोहरदगा से दूसरे प्रदेश गए लोगों के वापसी की सूचना मिलने पर पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से सजगता दिखाते हुए वैसे लोगों के प्रवेश के पहले स्वास्थ्य जांच कराने की प्रयास में जुटी है। 

लॉकडाउन को लेकर पुलिस की गश्त जारी

लॉकडाउन में लोहरदगा शहरी क्षेत्र से लेकर ग्रामीण क्षेत्र की हलचल बिल्कुल खत्म हो गई। लॉकडाउन में सरकार के निर्देशों के अनुपालन सुनिश्चित करने के उद्देश्य से लोहरदगा पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से सक्रिय और सजग है। साथ ही क्षेत्र भ्रमण कर स्थिति का आंकलन करते हुए सभी गली-मुहल्लों में घूम-घूमकर लोगों से अपने-अपने घरों में रहने का अनुरोध किया जा रहा है। लॉकडाउन को लेकर शहर के साथ-साथ प्रखंड क्षेत्र में पुलिस की गश्त लगातार जारी है। इस दौरान लोगों पर पैनी नजर रखी जा रही है और नियमों का उल्लंघन करने वालों के साथ प्रशासन सख्ती भी दिखा रही है।

समस्याओं के हल में जुटा प्रशासन

आम लोगों की समस्याओं को हल करने में भी प्रशासन जुटा हुआ है। खाद्यान, गैस, सब्जी समेत जरूरत के सामानों को लोगों के घरों तक पहुंचाने में पुलिस-प्रशासन सहयोग कर रहा है। जिले के सभी सीमावर्ती क्षेत्रों में लगातार वाहन जांच अभियान चलाया जा रहा है। कोरोना को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को जागरूक करने के साथ-साथ लोगों से घरों में रहने और बाहरी व्यक्ति के गांव आने पर प्रशासन को सूचना देने का अनुरोध किया जा रहा है।

अपने घरों में ही पूजा कर रहे श्रद्धालु

लॉकडाउन के इस विकट समय में चैती नवरात्र के मौके पर श्रद्धालु अपने-अपने घरो में पूजा-अर्चना कर विपदा के समय में मां अंबे से आशीर्वाद की प्रार्थना कर रहे हैं। नवरात्र पाठ से लोगों के घरों का वातावरण भक्तिमय बना है। मां अंबे की पूजा में लीन महिला भक्तगण जागरूक होकर दूरी बनाकर पूजा-पाठ करते हुए नियम का अनुपालन कर रही हैं।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस