संवाद सहयोगी, लोहरदगा : राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ का प्रतिनिधिमंडल बुधवार को जिला शिक्षा अधीक्षक रतन कुमार महावर से मुलाकात कर शिक्षकों की समस्याओं से जुड़ी तीन सूत्री मांग पत्र सौंपा। साथ ही डीएसई से मांग किया गया है कि उनकी मांगों पर विचार करते हुए शीघ्र कार्रवाई की जाए। महासंघ की मांगों में शिक्षकों को बायोमीट्रिक प्रणाली से उपस्थिति दर्ज कराने के लिए निजी मोबाइल फोन के उपयोग कर उपस्थिति दर्ज करने में अज्ञात लिक जोड़ने पर उनकी निजता भंग की संभावना को शिक्षक कतई बर्दास्त नहीं करेंगे। शिक्षकों ने कहा कि सरकार द्वारा करोड़ों रुपए खर्च कर सभी विद्यालय को दिए गए टैब में मुख्यमंत्री का संदेश के कारण चुनाव आचार संहिता के कारण रोक लगा दी गई है। जिले में निर्वाचन कार्य संपन्न हो चुका है ऐसे में उन्हें टैब के माध्यम से उपस्थिति बनाने की इजाजत दी जानी चाहिए। प्रतिनिधिमंडल ने जिले के प्राथमिक शिक्षकों का प्रोन्नति का मामला जो 35 वर्षों से लंबित है, उसका शीघ्र निष्पादन करने और जिले के बहुसंख्यक शिक्षकों को कनीय शिक्षकों से कम वेतन मिलने की स्थिति में ध्यान देने की जरूरत पर बल दिया गया है। प्रतिनिधिमंडल में अनुग्रह कुमार, प्रदीप कुमार हिद, सुजीत रजक, नवनीत गौड़, रणवीर कुमार, राजेंद्र उरांव, आशुतोष कुमार आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप