संवाद सूत्र, महुआडांड़ (लातेहार) : सुदूरवर्ती गांवों में पहुंच कर टीकाकरण को लेकर ग्रामीणों को उपायुक्त अबु इमरान जागरूक कर रहे हैं। कोरोना संक्रमण को लेकर इलाके में हो रहे टीकाकरण का प्रतिशत काफी कम था। इसका बड़ा कारण लोगों में टीका के प्रति गलत भ्रांतियों का होना था। उपायुक्त ने आमजनों के जीवन को बचाने के लिए खुद ही कमान संभाला एवं जिले के वैसे सुदूरवर्ती गांव में भी पहुंचे जहां लोग आज भी दिन में जाने के लिए सोचते हैं। उपायुक्त खुद पगड़डियों के सहारे गांव में पहुंचे ग्रामीणों से सीधा संवाद किया एवं कोरोना टीका को लेकर ग्रामीणों के मन में जो भी भ्रम था उसे जाना। रात में चौपाल लगाकर कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति से उन्हें अवगत कराते हुए टीका के महत्व को समझाया और टीका लेने के लिए प्रेरित किया, जिसका प्रतिफल हुआ कि ग्रामीण तांता लगाकर टीका लगाने पहुंचने लगे एवं जिला में टीकाकरण की गति बढ़ते चली गई। 55 से भी अधिक गांव में पहुंचे उपायुक्त :

उपायुक्त ने एक पखवारे के दौरान आमजनों के जीवन बचाने एवं शतप्रतिशत टीकाकरण करवाने के लिए महुआडांड़ प्रखंड के अतिसुरवर्ति गांव, बरदौनी, लुरूगुमी, अतिनक्सल क्षेत्र दुरूप, लुरगुमी खूर्द, अक्सी, सोहर, माइल, शाहपुर चंदवा प्रखंड के लाधूप,सांसग,नगर,नगर परहिया टोली,तिलैयाटांड़,बारियातू प्रखंड केकटईटोला, करमा, विश्रामपुर, दाड़ा नचना, टूडुहातू, मनिका प्रखंड के जुगुंर, लाली, चेचेन्धा, हेरहंज प्रखंड के तासू, हुंडरू, करनदाग, घुर्रे, सलैया, कसमार, हुंबू, लात, तासू, बरवाडीह प्रखंड के पोखरीकला,अतिनक्सल क्षेत्र केड़,मुरू, छिपादोहर, कुटमू,केचकी, गणेशपूर, चिपरू, मुकूंदपुर, मनातू,बालूमातथ प्रखंड के बालू, बहेराटोली, मासियातू,रजवार,गुरतूर,झाबर,नगड़ा, सेरगढ़ा,गारू प्रखंड के सरयू,धासीटोला,अलखडीहा, लातेहार जिला मुख्यालय समेत सदर प्रखंड के पाण्डेपुरा, परसही, डुडंगीखूर्द,पोचरा,पतकी समेत अन्य नक्सल प्रभावित दर्जनों सुदूर गांवों में जाकर लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक किया। इसका प्रतिफल यह हुआ कि अब गांवों में भी टाकीकरण ने रफ्तार पकड़ ली है।

Edited By: Jagran