जागरण संवाददाता, लातेहार : जल की महता को समझाने एवं जल संचयन कर जीवन को सुरक्षित करने को लेकर 1 जुलाई से 15 सितंबर तक जल शक्ति अभियान के तहत बुधवार को बहुदेशीय भवन में जिला स्तरीय एक दिवसीय उन्नमुखीकरण कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला का उद्घाटन उपायुक्त जिशान कमर, जिप अध्यक्ष सुनीता कुमारी,उप विकास आयुक्त माधवी मिश्रा एवं नगर पंचायत अध्यक्ष सीतामणि तिर्की ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपायुक्त जिशान कमर ने कहा कि जल का संचयन एवं उसका उपयोग सही तरीके से नहीं होने से हमारा जीवन खतरे में पड़ सकता है। उन्होंने जल संचयन कर जीवन की रक्षा करने की बात कही। उन्होंने कहा कि पृथ्वी पर जल अनमोल धरोहर है और इसके संचयन से ही जीवन सुरक्षित रहेगा। उन्होंने सरकारी पदाधिकारी,जनप्रतिनिधियों एवं आमजनों को 1 जुलाई से 15 सितंबर तक चलाए जा रहे जल शक्ति अभियान में जन भागदारी सुनिश्चित कर अभियान को सफल करने एवं जल की महता को समझ इसे संरक्षित करने को लेकर जागरूक किया। जिप अध्यक्ष सुनीता कुमारी ने कहा कि जल का महत्व जीवन में अनमोल है इसे संरक्षित करें। आने वाला भविष्य सुखमय होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में पानी की किल्लत से लोग परेशान हैं। इसका कारण जल की बर्बादी का होना है। उन्होंने 1 जुलाई से 15 सितंबर तक जल शक्ति अभियान से जुड़ कर जल संचयन करने की अपील की। उप विकास आयुक्त माधवी मिश्रा ने कहा कि जल जीवन की शक्ति है और जीवन के नए आधार देने के लिए जल का संचयन जरूरी ही। उपविकास आयुक्त ने जल संचयन को लेकर जिले के प्रत्येक व्यक्ति को 1 जुलाई से 15 सितंबर तक चलाए जा रहे जल शक्ति अभियान से जुड़ कर जल संचयन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि वर्षा का पानी बर्बाद नहीं हो हमसभी मिलकर ऐसा कार्य करें कि खेत का पानी खेत में एवं गांव का पानी गांव में ही रहे। नगर पंचायत अध्यक्षा सीतामणि तिर्की ने भी जल संचयन की महता को बताया एवं जल संचयन को लेकर लोगों को प्रेरित किया। मौके पर आइटीए निदेशक विदेश्वरी ततमा,डीाअरडीए निदेशक पंकज कुमार सिंह, जिला परिषद उपाध्यक्ष राजेन्द्र साहू, एसडीओ जय प्रकाश झा,महुआडांड़ एसडीओ,सभी बीडीओ,सीओ,मुखिया समेत अन्य कर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran