संवाद सूत्र, हेरहंज (लातेहार) : हेरहंज प्रखंड के केड़ू गांव में तीन माह में अज्ञात बीमारी से 7 बच्चों की मौत शीर्षक से दैनिक जागरण के 15 फरवरी के अंक में खबर प्रकाशित की गई थी। मामले पर

स्वास्थ्य विभाग हरकत में आया। स्वास्थ्य विभाग की टीम शनिवार को गांव के लिए रवाना होकर गांव में कैंप लगाकर ग्रामीणों की जांच की। इस टीम में लातेहार सीएस डा. शिवपूजन शर्मा व बालूमाथ सीएससी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अशोक ओड़िया मौजूद हैं। जानकारी के अनुसार खबर प्रकाशित होने के बाद उपायुक्त जिशान कमर के निर्देश के बाद सीएस डा. शिवपूजन शर्मा के नेतृत्व में स्वास्थ्य टीम केड़ू गांव पहुंचकर सभी मृतक बच्चों के बारे में जानकारी ली। ग्रामीणों ने टीम को बताया कि सभी एक ही समुदाय के एक ही टोले के एक ही परिवार विशेष केसदस्य हैं। इस तरह अचानक बच्चों की हो रही मौत से गांव के लोग काफी भयभीत हैं। टोले वासियों के अनुसार इस रहस्यमय अज्ञात बीमारी में सबसे बड़ी बात यह है कि सभी मृतक बच्चों की मौत का अंतराल 15 दिनों का रहा है। गांव के लोगों का कहना है कि सभी बच्चे स्वास्थ्य थे। अचानक बच्चे रोने लगते हैं और उसके बाद मुंह और नाक से झाग निकलने लगता है। इस प्रकार आधे घंटे के भीतर बच्चे की मौत हो जाती है। गुरुवार को भी कुछ ऐसा ही हुआ कि तीन वर्षीया बच्ची खेली कूदी और अपने मां-बाप के साथ पास में लगने वाला बाजार गई थी। शाम को आई और अचानक रोने लगी। पूर्व में और बच्चों के साथ जो घटना हुई थी, ठीक उसी तरह देखते ही देखते उसकी मृत्यु हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि बच्चे को इलाज करवाने का भी समय नहीं मिलता। इस मौके पर डॉ. सुनील कुमार सिंह, सदर अस्पताल प्रभारी अस्पताल प्रबंधक वेद प्रकाश, एमटीएस पंकज कुमार पाण्डेय, टैक्निशियन निरंजन कुमार समेत दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस