संवाद सूत्र, झुमरीतिलैया (कोडरमा): झारखंड विकास मोर्चा ने मोटर वाहन कानून में संशोधन के खिलाफ बुधवार को आक्रोश मार्च निकाला। मार्च शहर के कला मंदिर परिसर निकला। इसका नेतृत्व जिलाध्यक्ष बेदू साव, अशद खान, रमेश हर्षधर, सुनील यादव, सरवर खान, सुखदेव यादव,दुर्गा राम ने किया। मार्च के दौरान केंद्र व राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी किया। आक्रोश मार्च में मोटर वाहन कानून पर रोक लगाने की मांग की गई। आक्रोश मार्च झंडा चौक पहुंचकर नुक्कड़ सभा मे तब्दील हो गई। सभा की अध्यक्षता नगर अध्यक्ष अशद खान ने किया। सभा को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष बेदु साव ने कहा कि नए मोटरयान कानून अघोषित आपातकाल के समान है। सरकार की मंशा लोगों को राहत पहुंचाने की जगह परेशान करने वाला है। वही जेवीएम नेता रमेश हर्षधर व केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुनील यादव ने कहा कि सरकार जानबूझकर लोगों को कानून के नाम पर आर्थिक दोहन कर रही है। सरकार जनता के साथ तानाशाही रवैया अपनाकर आवाज दबाने की कोशिश कर रही है। सभा को सुखदेव यादव, अरशद खान, दुर्गा राम, रामप्रसाद साव,सरवर खान ने संबोधित करते हुए कहा कि देश मे एकतरफ आर्थिक मंदी छाई है, आम लोगों के जेब से पैसे निकाल कर सरकार अपना स्वार्थ साधना चाहती है। उन्होंने कहा कि सरकार अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए यह काम कर रही है। वक्ताओं ने कहा कि झारखंड में भाजपा सरकार से हर तबका त्रस्त है, जनता बदलाव का विकल्प चुनने की ओर बढ़ रही है। आने वाले समय मे भाजपा को सत्ता से उखाड़ फेंकने का मूड जनता बना चुकी है। मौके पर मनोज भगत, राजू सिंह, मुख्तार अंसारी, उत्तम शर्मा, विजय रजक, युगल किशोर शर्मा, अरविद सिंह, आ•ाद अंसारी, महेंद्र लोहानी, मो रफाकत, आलोक यादव, श्यामजीत यादव, उमेश यादव, मो असलम, मो हाफिजुल्लाह,राजेश यादव, छोटे खान,रंजीत यादव,रेयाज मंसूरी समेत पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप