कोडरमा, [अनूप कुमार]। पूरे झारखंड में आज कोडरमा लोकसभा ही एक ऐसा क्षेत्र है, जो वाम मोर्चो की राजनीति का केंद्र है। वर्ष 2004 से पहले यहां वाम मोर्चा की उपस्थिति नगण्य थी। वर्ष 2004 के चुनाव में पहली बार भाकपा माले के नेता राजकुमार यादव गिरिडीह जेल से लोकसभा चुनाव लड़े थे, और जेल में रहते हुए उन्होंने 136554 वोट लाकर अपनी मजबूत उपस्थिति दर्ज कराई थी। परिणाम में वे तीसरे स्थान पर रहे थे।

इससे पूर्व 1977 में रामनारायण प्रसाद यादव सीपीआई उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़े थे और उन्हें 21377 वोट मिले थे। वहीं1999 में नजमूल हसन भाकपा माले उम्मीदवार के रूप में लड़कर मात्र 21000 वोट प्राप्त किए थे। वर्ष 2004 के बाद से हर चुनाव में वाम मोर्चे की ताकत में लगातार इजाफा होता गया। वर्ष 2009 और 2014 के चुनाव में राजकुमार ने अपनी बढ़त को आगे बढ़ाते हुए क्रमश: 1.5 लाख और 2.67 लाख वोट प्राप्त कर दूसरे पायदान पर रहे।

2004 के चुनाव में राजकुमार यादव विभिन्न आपराधिक मामलों को लेकर जेल में बंद थे और जेल से ही उन्होंने नामांकन दर्ज किया था। भाकपा माले के हार्डकोर कैडरों ने इस चुनाव में राजकुमार के लिए पांच-पांच रुपया चंदा वसूलकर चुनाव का खर्च किया था। तब लोग इस बात को गरीब-गुरबों तक तक पहुंचाने में सफल रहे थे, जनता के सवालों को लेकर संघर्ष के कारण ही राजकुमार को आपराधिक मुकदमों में फंसाया गया है। इससे उनके प्रति समाज के एक तबके की जबरदस्त सहानुभूति उमड़ी थी, जो उन्होंने संसदीय राजनीति में एक मुकाम तक पहुंचाया।

इस चुनाव में राजकुमार यादव चुनाव अभियान के मुख्य सारथी उनके राजनीतिक गुरु भाकपा माले के तत्कालीन विधायक स्व. महेंद्र ङ्क्षसह बने थे। महेंद्र ङ्क्षसह, राजकुमार यादव व भाकपा माले के हार्ड कोर कैडर वर्ष 2000 से ही पूरे संसदीय क्षेत्र में गरीबों व दबे कुचलों की आवाज बनकर उभरे थे। लिहाजा भाकपा माले की राजनीतिक जड़ें इस इलाके में मजबूत होती गई। कोडरमा संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत दो विधानसभा क्षेत्रों बगोदर व धनवार में भाकपा माले की मजबूत स्थिति है।

वर्तमान में धनवार विधानसभा क्षेत्र से वर्तमान में भाकपा माले के लोकसभा प्रत्याशी राजकुमार यादव विधायक हैं, जबकि बगोदर से 2005 से 2014 तक विनोद ङ्क्षसह और इससे पूर्व विनोद सिंह के पिता स्व. महेंद्र सिंह विधायक रहे थे। एकबार फिर राजकुमार के उम्मीदवार होने से वाम मोर्चे की राजनीति कोडरमा में केंद्रित होगी।

Posted By: Sujeet Suman