संवाद सूत्र, झुमरीतिलैया (कोडरमा): हजारीबाग के इचाक से 4 मासूम शु्क्रवार की रात भटककर झुमरीतिलैया पहुंच गए। हालांकि समय रहते इंदरवा चौक के आसपास भटकते बच्चों पर पुलिस गश्ती दल की नजर पड़ी। उन्होंने बच्चों को तिलैया थाना परिसर में लाकर चाइल्डलाइन के सुपुर्द कर दिया। चाइल्ड लाइन की कार्यकर्ता पिकी देवी ने बताया कि बच्चों के पिता शंकर साव दैनिक मजदूर का काम करते हैं। बच्चों के माता-पिता के बीच बराबर झगड़ा होता था। चारों बच्चों की मां गुड़िया देवी इन बच्चों को इचाक स्थित एक परिचित के घर में छोड़कर चली गई थी। बाद में 9 वर्षीय बड़ी बेटी सोनी अपने साथ 6 वर्षीय बहन निशा, 2 वर्षीय भाई देवराज ओर एक वर्षीय भाई आरोही को साथ लेकर बस में बैठ गई। झुमरीतिलैया में गुमो निवासी अपनी फुआ ज्योति देवी के घर जा रही थी। बस वाले बच्चों को झुमरीतिलैया के इंदरवा चौक पर उतारकर चले गए। यहां चारों बच्चों को लावारिस हालत में देख पुलिस गश्ती दल बच्चों को रेस्क्यू कर तिलैया थाना लाए। यहां बच्चों को चाइल्ड लाइन को सुपुर्द किया गया। 9 वर्षीय बच्ची ने बताया कि उनके माता-पिता के बीच हमेशा झगड़ा होता रहता था और इसी झगड़े के कारण उनकी मां उन्हें छोड़कर पहले ही चली गई थी। बच्चों ने बताया कि उनकी बुआ झुमरीतिलैया में रहती है लेकिन, उनका पता मालूम नहीं है। बच्चों के अनुसार उनके पिता ने बस में बैठाकर उन्हें भेज दिया। चाइल्डलाइन की कार्यकर्ता पिकी देवी ने बताया कि बच्चों को फिलहाल चाइल्डलाइन के आवासीय परिसर में रखा जाएगा और उनकी कांउसलिग की जाएगी। साथ ही इन बच्चों के माता-पिता से संपर्क किया जाएगा।

Edited By: Jagran