कोडरमा: झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ का तीसरा जिला सम्मेलन रविवार को कोडरमा समाहरणालय परिसर में हुआ। सम्मेलन का उद्घाटन डीडीसी आलोक त्रिवेदी, मुख्य वक्ता राष्ट्रीय सचिव सह राज्य महामंत्री रामाधार शर्मा, महिला नेत्री शर्मिला ठाकुर ने किया। इस मौके पर डीडीसी ने कहा कि सम्मेलन की सफलता को लेकर कर्मियों को बधाई दी। कहा कि सरकार के कार्यों को आगे बढ़ाने में कर्मियों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऐसे सम्मेलन के माध्यम से कई तरह की समस्याओं को दूर किया जा सकता है। वहीं मुख्य वक्ता राज्य महामंत्र शर्मा ने कर्मियों के प्रति सरकार के उपेक्षापूर्ण रवैये पर ¨चता जतायी। कहा कि सरकार कर्मियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। आज अनुबंध, दैनिक वेतनभोगी व आउटसोर्सिंग कर्मियों का जीवन अधर में लटका है। पिछले 12 वर्षों से अधिक समय से महासंघ ऐसे कर्मचारियों के स्थायीकरण के लिए संघर्षरत है। लेकिन सकारात्मक पहल सरकार स्तर से नहीं हो पाई है। उन्होंने कर्मियों को एकजुट रहने की अपील की। सम्मेलन को महिला नेत्री शर्मिला ठाकुर, संरक्षक रामबिलास ¨सह, वन विभाग के विजय रत्नेश, जिला संरक्षक फेकूलाल विद्यार्थी, माकपा नेता रमेश प्रजापति, धनबाद के कर्मचारी प्रतिनिधि राजाराम, हजारीबाग के प्रतिनिधि इंद्रदेव प्रसाद, विद्यु़त विभाग कर्मी संघ के नेता विजय ¨सह आदि ने संबोधित किया। वहीं सम्मेलन में जिला सचिव शशि कुमार पांडे, जिला संयुक्त मंत्री दिनेश रविदास के द्वारा जिला एवं राज्य से संबंधित प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। वहीं कोषाध्यक्ष राजकुमार दास ने तीन वर्षों का आय-व्यय पेश किया गया। सम्मेलन की अध्यक्षता शैलेंद्र कुमार तिवारी, अरूण कुमार चौधरी एवं गिरधारी प्रसाद व संचालन राजकुमार दास, शशिकांत मणि, तरूण लाल ने किया। ::::::::::: अनुसचिवीय कर्मचारी के अध्यक्ष बने शशिकांत::::::::::::::

कोडरमा: समाहरणालय लिपिक अनुसचिवीय का चुनाव भी सम्मलेन के दौरान हुआ। चुनाव में शशिकांत मणि को अध्यक्ष, राजकुमार दास को सचिव, दिलीप कुमार को कोषाध्यक्ष, तरूण लाल व देवनंदन कुमार को उपाध्यक्ष, राकेश रौशन, इंतखाब आलम को संयुक्त सचिव तथा प्रमोद बख्सी को अंकेक्षक बनाया गया।

Posted By: Jagran