संवाद सहयोगी, कोडरमा: पहली बार विधान सभा चुनाव को लेकर बागीटांड़-लोकाई रोड स्थित आईटीआई संस्थान में वज्रगृह व मतगणना केंद्र बनाया गया है। स्ट्रांग रूम में ईवीएम सुरक्षित रखे जाने के बाद यहां हलचल बढ़ गई है। 23 को मतगणना है। ऐसे में प्रत्याशियों के समर्थकों की आवाजाही भी बढ़ गई है। वहीं स्ट्रांग रूम के चारों ओर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। करीब ढाई एकड़ में फैले इस संस्थान में एक कंपनी पारा मिलिट्री के जिम्मे ईवीएम की सुरक्षा सौंपी गई है। वहीं एक बड़े हॉल को मतगणना केंद्र बनाया गया है। मतगणना को लेकर 16 टेबल लगाए जाएंगे। जबकि 22 राउंड में मतों की गिनती पूरी होगी। यहां उम्मीदवारों के कार्यकर्ताओं के लिए भी स्थान बनाया गया है। शनिवार को उपायुक्त रममेश घोलप एसडीओ विजय बर्मा, नगर पर्षद के कार्यपालक पदाधिकारी कौशलेस कुमार ने वज्रगृह एवं मतगणना केंद्र का निरीक्षण किया। भवन प्रमंडल द्वारा संस्थान में हर जरूरी उपाय किए जा रहे है। वहीं उम्मीदवारों के समर्थकों के लिए संस्थान के बगल स्थित एक मैदान में स्थान तैयार की गई है। वाहनों के आने-जाने के लिए भी जरूरी उपाय किए जा रहे है। संस्थान के अंदर बांस से घेराबंदी की गई है। डीसी ने बताया कि मतगणना के लिए हर जरूरी बिदुओं पर ध्यान दिया गया है। मतगणना हॉल में ही निर्वाची पदाधिकारी का टेबल लगाया जाएगा। यहां प्रेक्षक, जिला निर्वाचन पदाधिकारी, निर्वाची पदाधिकारी आदि बैठ सकेंगे। वहीं उम्मीदवारों या उनके एक समर्थक को मतगणना हाल के अंदर आने की इजाजत दी जाएगी। उम्मीदवारों के लिए स्थान भी तय किये जा रहे है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय बल के जिम्मे वज्रगृह की सुरक्षा है। इसके अलावा तीन लेयर की सुरक्षा व्यवस्था दी गई है। पूरा परिसर व स्ट्रांग रूम के बाहर सीसीटीवी कैमरा के साथ-साथ पुलिस बलों का मोर्चा है। उन्होंने कहा कि मतगणना के लिए 16 टेबल लगाए जा रहे है। जबकि एक टेबल में वीवी पैट स्लीप की गणना होगी। प्रशिक्षण के उपरांत मतगणना का डेमो भी कर्मियों से करवाया जाएगा। ताकि किसी तरह की समस्या ना हो। संस्थान में पानी -शौचालय की व्यवस्था की गई है। मतगणना को लेकर कई दंडाधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की जा रही है। वहीं विधि-व्यवस्था संधारण के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की जाएगी। सिस्टम दुरुस्त नहीं रहने पर भड़के डीसी

कोडरमा: स्ट्रांग रूम के बाहर सिस्टम में कमी रहने के कारण डीसी रमेश घोलप ने संवेदक पर भड़क गये। दरअसल स्ट्रांग रूम में रखे ईवीएम का सीधा प्रसारण के लिए बाहर मॉनिटर लगाने का निर्देश दिया गया था। लेकिन तार की कमी बताकर नहीं लगाया गया। इस पर डीसी ने कहा कि चुनाव कार्य में लापरवाही पर प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजा जा सकता है। उन्होंने संवेदक को अंतिम मौका दिया। कहा कि यदि दूसरी बार उनके आने तक सिस्टम दुरूस्त नहीं रहा तो अपनी गाड़ी से ही वे जेल भेजेंगे। एसडीओ को भी पूरी गंभीरता से ऐसे कार्यों को निपटाने का निर्देश दिया। प्रत्याशी एप के माध्यम से देख सकेंगे स्ट्रांग रूम का लाइव

कोडरमा: प्रत्याशियों को ईवीएम की सुरक्षा को लेकर स्ट्रांग रूम आने-जाने की आवश्यकता नहीं होगी। एप के माध्यम से प्रत्याशी अपने मोबाईल में ही स्ट्रांग रूम का सीधा प्रसारण देख सकेंगे। डीसी ने कहा कि चुनाव आयोग से इसके लिए अनुमति ली जा रही है। सभी प्रत्याशियों को एप उपलब्ध कराया जा रहा है। शनिवार शाम से ही एप को चालू कर दिया जाएगा। वहीं दूसरी ओर शनिवार को दिनभर प्रत्याशियेां के समर्थकों का स्ट्रांग रूम आना-जाना लगा रहा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस