संवाद सहयोगी, झुमरीतिलैया (कोडरमा): माओवादी संगठन द्वारा लखीमपुर के खीरी कांड के विरोध में 17 अक्टूबर की रात्रि 12 बजे से 18 अक्टूबर की रात्रि 12 बजे तक झारखंड, बिहार ,उत्तर प्रदेश तथा उत्तरी छत्तीसगढ़ में 24 घंटे का बंद का ऐलान किया गया है। बंद को देखते हुए धनबाद रेल मंडल में नई दिल्ली हावड़ा ग्रैंड कोड सेक्शन, सीआइसी सेक्शन में हाई अलर्ट जारी किया है और कोडरमा गया रेलखंड में शनिवार की रात्रि 12 बजे से ट्रेनों की गति सीमा को ब्रेक लगाने का निर्णय लिया है। इसके तहत ट्रेनें अपनी गति सीमा को कम करके इस खंड पर गुजरेगी। वहीं राज्य सरकार ने भी सभी एसपी को अलर्ट किया है और पेट्रोलिग व्यवस्था बढ़ा दी है। धनबाद रेल मंडल के आरपीएफ कमांडेंट हेमंत कुमार ने बताया कि सतर्कता के तहत आरपीएफ, जीआरपी संयुक्त रुप से पेट्रोलिग करेगी। उन्होंने यह भी बताया की धनबाद रेल मंडल से होकर चलने वाली ट्रेनों के लिए संबंधित जिलों के एसपी से संपर्क स्थापित किया है, ताकि ट्रेनों का परिचालन सुरक्षित रूप से हो सके।

कल चक्का जाम करने वालों पर होगा एफआइआ

18 अक्टूबर को किसान संघर्ष मोर्चा द्वारा चक्का जाम का ऐलान किया गया है। इसे देखते हुए धनबाद रेल मंडल आरपीएफ सतर्कता बरत रहा है। आरपीएफ कमांडेंट हेमंत कुमार ने बताया कि धनबाद से लेकर पहाड़पुर एवं सीआइसी सेक्शन में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है और आरपीएफ ,जीआरपी के अलावा लोकल पुलिस जाम से निपटने के लिए सतर्क रहेगी। उन्होंने यह भी बताया कि जाम को देखते हुए आरपीएसएफ भी सतर्क है ।जाम करने वाले पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी और उसकी वीडियोग्राफी ,फोटोग्राफी भी कराई जाएगी। इधर किसान संघर्ष मोर्चा कोडरमा के नेताओं ने बताया कि अभी तक इस पर ठोस निर्णय नहीं लिया गया है। रविवार को इस पर ठोस निर्णय निर्णय लिया जाएगा। बताते चलें कि किसान संघर्ष मोर्चा ने लखीमपुर खीरी कांड में किसानों की हत्या को लेकर 4 दिन पहले श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया था तथा 15 अक्टूबर को पुतला दहन का निर्णय लिया था ,लेकिन यह कार्यक्रम अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दिया गया था।

Edited By: Jagran