जागरण संवाददाता, खूंटी : खूंटी जिले की पवित्र मिट्टी पूरी दुनिया में अपनी विशिष्ठ छाप छोड़ रहा है। स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान जहां धरती आबा बिरसा मुंडा ने इस मिट्टी के क्रांतिकारी होने का परिचय दिया, वहीं खेल के क्षेत्र में जयपाल सिंह मुंडा से लेकर अनगिनत खिलाड़ियों ने जिले का नाम रौशन किया। समाजसेवा के क्षेत्र में पद्मभूषण कड़िया मुंडा ने खूंटी की धरती को नई पहचान देने का काम किया है। उक्त बातें केंद्रीय मंत्री सह खूंटी के सांसद अर्जुन मुंडा ने कहीं। वे गुरुवार को जिला फुटबॉल संघ द्वारा आयोजित फुटबॉल टूर्नामेंट के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। बिरसा स्टेडियम में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर सरकार ने निर्णय लिया कि अब देश के सभी आदिवासी गांवों को फोर जी नेटवर्क से जोड़ा जाएगा। ताकि आदिवासी गांवों के बच्चे तकनीकि क्षेत्र में पीछे ना रहे। सरकार सभी प्रखंडों में एकलब्य विद्यालय खोल रही है। जहां पठन-पाठन के साथ बच्चों को खेल का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि खूंटी स्थित बिरसा कालेज भी धरती आबा की तरह अपना अमिट छाप छोड़ेगा। कालेज में सभी प्रकार की सुविधाएं हो, सभी विषयों की पढ़ाई हो, बहुआयामी व्यक्तित्व का निर्माण के लिए जितनी चीजों की आवश्यकता है वह कैंपस में कैसे मिले इस पर काम किया जा रहा है। कालेज में जमीन की समस्या का समाधान आंशिक रूप से हुआ है। इसे पूरा करने का काम किया जाएगा। कालेज को आदर्श शिक्षण संस्थान बनाना है। केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री सह खूंटी सांसद अर्जुन मुंडा जिला फुटबॉल संघ द्वारा आयोजित फुटबॉल टूर्नामेंट के फाइनल मैच में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद थे। इसके अलावा विशिष्ट अतिथि के रूप में बिरसा कॉलेज के फुटबॉल स्टेडियम में पद्मभूषण कड़िया मुंडा, तोरपा विधायक कोचे मुंडा, नगर पंचायत अध्यक्ष अर्जुन पाहन आदि उपस्थित थे। अतिथियों का बच्चियों ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। फाइनल मैच के पूर्व केंद्रीय मंत्री ने मैदान में जाकर खिलाड़ियों का परिचय लिया। समापन समारोह में बच्चियों ने मैदान के बीच नृत्य कर फाइनल मैच का शुभारंभ किया।

खूंटी जिला फुटबॉल संघ द्वारा आयोजित फाइनल मैच वासुदेव कुटुंब परिवार और सम्राट क्लब अनिगड़ा के बीच खेला गया। जिसमें वासुदेव कुटुंब परिवार 2-0 विजयी रहा। वहीं बालिका वर्ग में केएफसी अनिगड़ा और संत नॉर्मेट हस्सा स्कूल के बीच मैच खेला गया। जिसमें केएफसी अनिगड़ा 3-2 विजय रहा। केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने विजेता और उपविजेता टीम को सम्मानित किया। समापन समारोह का संचालन पूर्व क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र के प्रोग्राम कॉर्डिनेटर चंद्रदेव सिंह ने किया। खूंटी जिला फुटबॉल संघ ने अतिथियों का शॉल ओढ़ाकर और स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

Edited By: Jagran