संवाद सूत्र, कर्रा : कर्रा प्रखंड के संत अन्ना जीटी दादेल हाई स्कूल कच्चा बारी के छात्र सूरज महतो मैट्रिक परीक्षा में 461 अंक लाकर खूंटी जिला में दूसरा स्थान प्राप्त किया है। सूरज कर्रा प्रखंड के छाता गांव का रहने वाला है। सूरज के पिता करवा महतो और मां मुन्नी देवी अपने बेटे की इस सफलता से बहुत खुश है। सूरज महतो अपनी इस सफलता का श्रेय अपने माता-पिता और अपने शिक्षक सत्यनारायण चौधरी को दे रहा है, जिन्होंने इस लॉकडाउन में भी इसे ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई कराते रहे। सूरज ने बताया कि वह आगे चल कर पुलिस ऑफिसर बनना चाहता है। जिससे वह अपना देश की सेवा कर सके और अपने परिवार व गांव के लिए जो सपना देखा है उसे पूरा कर सकें। आगे का पढ़ाई सूरज रांची में रहकर करना चाहता है।

---

प्रोफेसर बनना चाहती है जिले की तीसरी टॉपर संध्या

फोटो : 12

जासं, खूंटी : मैट्रीक की परीक्षा में खूंटी जिले की तीसरी टॉपर रही उर्सलाइन कांवेंट ग‌र्ल्स स्कूल की छात्रा संध्या रानी ओडेया आगे चलकर प्रोफेसर बनना चाहती है। 91.40 प्रतिशत अंक के साथ जिले में तीसरे स्थान पर रही संध्या कहती हैं कि कोरोना संक्रमण ने पढ़ाई को बुरी तरह से प्रभावित किया है। संकट के इस काल में ऑनलाइन पढ़ाई ही एक मात्र सहारा था। स्कूल से मिले नोट्स, ऑनलाइन क्लास व यू ट्यूब देखकर पढ़ाई की ओर अपना मुकाम हासिल किया। संध्या ने टॉपर बनने का रेय सभी शिक्षकों के साथ अपने माता-पिता व सहपाठियों को दिया है। संध्या के पिता राजेश रंजन ओडेया सीआरपीएफ में कार्यरत हैं और मां दिव्या ओडेया गृहणी है। संध्या का छोटा भाई छठी कक्षा में पढ़ता है। संध्या ने बताया कि आगे की पढ़ाई वह रांची स्थित उर्सलाइन इंटर कालेज में करना चाहती है।

---

प्लाई मिस्त्री की बेटी बनी जिले की चौथी टॉपर

फोटो : 13

संसू, तोरपा : प्लाई मिस्त्री की बेटी ने अपने मेहनत और परिश्रम के बदौलत मैट्रीक की परीक्षा में खूंटी जिले में चौथा टॉपर बनने का श्रेय हासिल किया है। जिले के तोरपा प्रखंड के अम्मा पकना गांव निवासी मजदूर शहाबुद्दीन खान की बेटी सलीमा परवीन ने झारखंड अधिविध परिषद की परीक्षा में 455 अंक लाकर जिले में चौथा स्थान हासिल किया है। सलीमा परवीन आगे पढ़कर बैंक अधिकारी बनना चाहती है। जिले में अपना स्थान बनने के लिए उसे कई कठिनाईयों का सामना करना पड़ा है। वे रोजाना दो किमी दूर ट्यूशन के लिए जाया करती थी। परिवार में आर्थिक परेशानी के बीच भी बेहतर रिजल्ट करने पर सलीमा का पूरा परिवार खुशी से फूले नहीं समा रहा है। घर में संसाधनों का अभाव है, फिर भी उसने मैट्रिक की परीक्षा में जिला टॉॅप फाइव में स्थान बनान उसके मेहनत का परिणाम है। उसके पिता रांची के एक प्लाई दुकान में मजदूरी करते हैं। उसकी मां खतीजा खातून अपनी बेटी के सफलता से फुले नही समा रही है। सलीमा चार भाई बहानों में तीसरे नंबर पर है। सलीमा कहती है कि ज्यादा खुशी तब होती जब मैं परीक्षा देकर अंक प्राप्त करती। मैं 12वीं में वाणिज्य से पढ़कर बैंकिग करना चाहती हूं। कहा कि कोरोना काल में परीक्षा के असमंजस के बीच भी वह ऑनलाइन पढ़ाई को सीरियसली ले रही थी।

---

जूम एप व यूट्यूब देखकर की तैयारी, मिला पांचवा स्थान

फोटो : 14

जासं, खूंटी : उर्सलाइन कांवेंट ग‌र्ल्स स्कूल की छात्रा गीता कुमारी कोरोना संक्रमण काल के दौरान स्कूल की ओर से किए जा रहे ऑनलाइन कक्षा और यूट्यूब देखकर परीक्षा की तैयारी की और जिले में पांचवां स्थान हासिल किया। रनिया प्रखंड के गड़ाहातु की रहने वाली गीता आगे पढ़कर चिकित्सक बनना चाहती है और इसके लिए रांची में रहकर उर्सलाइन इंटर कालेज में ही पढ़ना चाहती है। गीता के पिता कृष्णा कुमार नाग खूंटी में क्लीनिक चलाते हैं और जबकि मां संतोषी देवी पारा शिक्षिका है। गीता का एक छोटा भाई भी है। गीता बताती है कि संक्रमण काल के दौरान स्कूल बंद रहने से विद्यार्थियों को नुकसान हुआ है। ऑनलाइन पढ़ाई और स्कूल से मिले नोट़स के बदौलत ही विद्यार्थियों को लाभ मिला है। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय स्कूल के शिक्षक व शिक्षिकाओं के साथ अपने माता-पिता व दोस्तों को दी है।

Edited By: Jagran