जागरण संवाददाता, खूंटी : जिले के तोरपा प्रखंड में आचार, पापड़ व मसाला निर्माण के 33 प्रशिक्षणार्थियों का और बकरी पालन के 20 प्रशिक्षणार्थियों का 10 दिवसीय प्रशिक्षण का समापन हुआ। आरसेटी खूंटी, युवा कॉम्पास, तोरपा और उद्योगिनी, तोरपा के सहयोग से तोरपा के पंचायत भवन में चले प्रशिक्षण में हजारीबाग से आई प्रशिक्षिका मीना देवी के निर्देशन में प्रशिक्षणार्थियों ने विभिन्न प्रकार के आचार एवं पापड़ बनाना सीखे। प्रशिक्षणार्थियों को मिक्स आचार, करेला का आचार, नींबू आचार, लहसुन आचार, आंवला आचार, ओल आचार और विभिन्न प्रकार के चटनी और मसाला आदि बनाने का गुर सिखाया गया। इसके साथ ही बकरी पालन प्रशिक्षण के लिए आए प्रशिक्षक समीर सुंडी के निर्देशन में बकरी पालन से संबंधित विभिन्न पहलुओं पर विस्तार से प्रशिक्षण दिया गया। जिसमें बकरियों में होने वाली बीमारियां व अन्य समस्याएं, उनका निवारण, बकरी की विभिन्न नस्लें, उनका टीकाकरण और बकरी पालन व्यवसाय से जुड़ी अन्य जानकारी दी गई। इस दौरान प्रशिक्षक सुशील कुमार ने दोनों प्रशिक्षण से जुड़े व्यवसाय के विभिन्न पहलुओं के विषय में प्रशिक्षणार्थियों को बताया और खुद का व्यवसाय शुरू करने पर जोर दिया।

इस दौरान 13 जनवरी को नेशनल अकादमी ऑफ रुडसेटी, रांची से आए विनय कुमार और 14 जनवरी को अशोक कुमार द्वारा प्रशिक्षण का मूल्यांकन भी किया गया। उन्होंने व्यक्तिगत रूप से सभी प्रशिक्षणार्थियों से बातचीत के क्रम में प्रशिक्षण की पूरी जानकारी ली। समापन समारोह में मुख्य अतिथि तोरपा मुखिया विनीता नाग ने सभी प्रशिक्षुओं को व्यवसाय में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। इस दौरान मुख्य अतिथि ने सभी को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। प्रशिक्षक सुशील कुमार के धन्यवाद ज्ञापन के बाद समारोह का समापन हुआ। प्रशिक्षण को सफल बनाने में सतनाम कंडुलना, जितेंद्र महतो, संदीप कुमार आदि ने अहम् योगदान दिया।

Edited By: Jagran