जागरण संवाददाता, खूंटी : दुर्गोत्सव के दौरान जहां पूरा शहर भक्तिमय वातावरण में देवी की आराधना में लीन था, वहीं अलग-अलग सड़क दुर्घटना में एक महिला की मृत्यु होने के साथ करीब दो दर्जन लोग घायल हो गए हैं। घायलों में तीन को बेहतर इलाज के लिए रिम्स रांची रेफर किया गया है। गुरुवार व शुक्रवार को जिले में नौ अलग-अलग स्थानों में सड़क दुर्घटनाएं घटी। शुक्रवार को देर शाम रेवा गांव के बिरहू मोड़ के पास तेज रफ्तार मैजिक वाहन अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराया। इस घटना में 60 वर्षीय रुक्मिणी देवी की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई। इस घटना में वाहन चालक निर्मल सांगा गंभीर रूप से घायल हो गया। जिसे बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर कर दिया गया। मृतका के बेटे अनिल महतो ने बताया कि उसकी मां घर में उपजाए साग सब्जी बेचने के लिए खूंटी बाजार गई थी। शाम को मैजिक गाड़ी से वापस घर लौट रही थी। चालक शराब पीकर काफी स्पीड से चलाते हुए पेड़ को धक्का मार दिया। इसके पूर्व बाबा आम्रेश्वर धाम से लौटकर दशम फॉल जा रहे रांची के एक व्यवसायी परिवार की कार अनियंत्रित होकर गड्ढे में घुस गई। इस दुर्घटना में कार में सवार 70 वर्षीय शत्रुघ्न प्रसाद सिन्हा गंभीर रूप से घायल हो गए। जबकि 45 वर्षीय श्वेता सिन्हा के पैर में चोट लगी है। इसके अलावा अलग-अलग स्थानों में हुई मोटरसाइकिल दुर्घटना में कई युवक घायल हो गए। इन दुर्घटनाओं में घायल होने वालों में अधिकांश 25 वर्ष से कम उम्र के युवक हैं। सदर अस्पताल से मिली जानकारी के अनुसार सड़क दुर्घटनाओं में घायल होने वालों में बंदगांव निवासी 16 वर्षीय रजत मुंडू, अमृतपुर निवासी प्रकाश उरांव और मंगल उरांव, आयुबहातु निवासी महावीर मुंडा, पीड़ीटोली निवासी कीरण पूर्ति, जकरियस मुंडू, रंदाय मुंडू, हिरामनी, शांति मुंडू, हाथडीह निवासी सामुएल मुंडू, शांति मुंडू आदि शामिल है। इनमें 49 वर्षीय शांति मुंडू और बंदगांव के रजत मुंडू को बेहतर इलाज के लिए रिम्स रांची रेफर किया गया है।

Edited By: Jagran