खूंटी : विगत कई दशकों से सावन पूर्णिमा के दिन जिले के प्रसिद्ध बाबा आम्रेश्वरधाम अंगराबाड़ी में शिव भक्तों का सैलाब उमड़ता रहा है। लेकिन, इस वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण पूर्णिमा के दिन सोमवार को पूरे आम्रेश्वरधाम परिसर में सन्नाटा पसरा रहा।

सरकारी गाइडलाइन के अनुसार मंदिर के कपाट बंद रहे। पवित्र शिवलिग में जलाभिषेक व पूजन आदि की प्रक्रिया मंदिर के पुजारी ने वैदिक रीति-रिवाज के अनुसार पूरी की। गाइड लाइन के अनुसार किसी भी भक्त को मंदिर में जलाभिषेक व पूजन की अनुमति नहीं थी। इस कारण पूर्णिमा के दिन सोमवार को भक्त भी वहां जलाभिषेक के लिए नहीं पहुंचे। दूसरी ओर शहर के प्रसिद्ध महादेव मंडा में कोरोना को ले इस बार सावन माह के दौरान प्रत्येक सोमवार को सुबह से पुलिस का पहरा लगा रहता था, इस कारण सोमवार को शिवालय जाने वाले बड़ी संख्या में भक्त जलाभिषेक करने से वंचित रह जाते थे। इस स्थिति में पूर्णिमा के दिन सोमवार को बड़ाईक टोली, महादेव टोली व कर्रा रोड आदि क्षेत्र के लोग तड़के साढ़े तीन बजे से ही महादेव मंडा पहुंचकर वहां जलाभिषेक और पूजन-अर्चना करने लगे। बाद में सुबह 6 बजे जब पुलिस पहुंची तब मंदिर का गेट बंद हुआ। इसके बाद जलाभिषेक के लिए पहुंचे श्रद्धालुओं को जलाभिषेक किए बिना ही लौटना पड़ा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021