जागरण संवाददाता, खूंटी : लॉकडाउन के चौथे दिन गुरुवार को लोगों ने अपनी जीवन रक्षा के लिए खुद को घरों में कैद कर लिया। फलस्वरूप जिला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक पूरी तरह सन्नाटा पसर गया। दूसरी ओर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से सक्रिय और सजग होकर स्थिति का आंकलन करते हुए लोगों को घरों में रहने की सलाह देता रहा। पुलिस लगातार गश्त करती रही। साथ ही लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों से घरों में रहने की अपील भी की जा रही थी।

गुरुवार की सुबह आठ बजते ही लोग जरूरत का सामान लेने के लिए दुकानों पर पहुंच गए। इस दौरान जहां दवा दुकानों में लोग सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए लाइन में लगकर दवा ले रहे थे, वहीं सब्जी व राशन की दुकानों में लोग सोशल डिस्टेंस को दरकिनार कर खरीदारी में जुट गए। पूर्वाह्न 11 बजे के बाद प्रशासनिक अधिकारी पुलिस बल के साथ सक्रिय हो गए और लोगों को चेतावनी देते हुए सड़क से खदेड़ दिया। आइटीडीए परियोजना निदेशक सह जिला परिवहन पदाधिकारी हेमंत सती के नेतृत्व में पुलिस बल के जवान खूंटी थाना के सामने मुख्य पथ पर बैरीकेडिग लगाकर हर आने-जाने वाले दोपहिया व चार पहिया वाहनों को रोककर वाहन चालकों को जहां लताड़ लगायी वहीं उनके कागजातों की भी जांच की। इस दौरान बेवजह सड़क पर घूम रहे दोपहिया वाहनों के सवारों को पुलिस का कोपभाजन भी बनना पड़ा। प्रशासनिक अधिकारियों की इस कार्रवाई से थोड़ी ही देर में अन्य सड़कों पर वाहनों का आवागमन बंद हो गया और सड़कों पर पूरी तरह से सन्नाटा पसर गया।

-------------------

दिख रहा है प्रशासन की कड़ाई का असर

कोरोना की रोकथाम के लिए जारी लॉक डाउन का कड़ाई से पालन कराने के प्रशासनिक प्रयास का असर शहर से लेकर गांव तक दिख रहा है। गुरुवार को बहुत कम लोग सड़कों पर दिखे। समय का निर्धारण किए जाने के बाद दुकानें भी कम समय के लिए खुल रही हैं। इस कारण उन स्थानों पर कुछ भीड़ नजर आती है। बिना काम सड़कों पर घूमने वालों की पुलिस पूरी खबर ले रही है। कई वाहनों को पुलिस द्वारा जब्त भी किया गया है। कोरोना के साथ ही प्रशासन के भय से भी लोग घरों में रहना ही बेहतर समझ रहे हैं। बहुत कम वाहन सड़कों पर नजर आ रहे हैं। लॉक डाउन के कारण अभी से ही ग्रामीण क्षेत्रों की दुकानों में सामान की किल्लत होने लगी है। कुछ ग्रामीण दुकानदारों पर खाद्य पदार्थों की अधिक कीमत वसूलने का आरोप भी लगा रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस