तोरपा : रेफरल अस्पताल तोरपा में एक ही चैंबर में पुरुष व महिला मरीज का इलाज होता देख दक्षिणी छोटानागपुर के आयुक्त दिनेशचंद्र मिश्रा भड़क गए। उन्होंने रेफरल अस्पताल के प्रभारी डॉ. नागेश्वर मांझी को कड़ी फटकार लगाई। प्रभारी डॉ. नागेश्वर माझी को कड़ा निर्देश दिया कि महिलाओं के लिए अलग ओपीडी होनी चाहिए। कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। इससे पूर्व आयुक्त ने अस्पताल में साफ - सफाई, पेयजल व्यवस्था, वार्ड, एंबुलेंस की व्यवस्था, दवाओं के रख रखाव, कर्मचारियों की उपस्थिति आदि की जानकारी ली। उन्होंने मेडॉल जांच केंद्र बंद देखकर इसे रोज खोलने की बात कही, अन्यथा कार्रवाई के लिए तैयार रहने को कहा। आयुक्त गुरुवार को प्रखंड सह अंचल कार्यालय का निरीक्षण करने पहुंचे थे। अंचल कार्यालय का निरीक्षण करने के बाद वे रेफरल अस्पताल पहुंचे थे।

-------------

जरूरतमंदों को पेंशन सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश

सबसे पहले दक्षिणी छोटानागपुर प्रमंडल के आयुक्त दिनेशचंद्र मिश्र ने तोरपा प्रखंड सह अंचल कार्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान आयुक्त ने प्रखंड विकास पदाधिकारी के चैंबर में पहुंच कर रोकड़पंजी, साधारण पंजी, स्थापना पंजी, आनलाइन डाटा समेत कार्यालय के विभिन्न अभिलेखों का अवलोकन किया। इस दौरान उन्होंने कार्यालय में अंचल के राजस्व सैरात, दाखिल खारिज समेत कई भूमि अधिग्रहण व हस्तारण संबंधी दस्तावेजों को घटों खंगालते रहे। निरीक्षण के दौरान सीओ जोसेफ कंडुलना को निर्देश दिया कि ग्रामीणों के बीच ज्यादातर लोगों को वृद्धा व विधवा पेंशन का लाभ पहुंचाने को कहा। निरीक्षण के मौके पर सचिव मोइनद्दीन खान, एसडीओ रवींद्र गगरई, डीआरडीए डायरेक्टर इम्तियाज अंसारी सहित कई लोग मौजूद थे।

--------

अंचल नाजीर को सुनाई खरी-खोटी

प्रखंड सह अंचल कार्यालय के निरीक्षण के दौरान आयुक्त दिनेशचंद्र मिश्र ने अंचल कार्यालय के नाजीर को नजारत अभिलेखों संधारण में कमी मिलने पर नाराजगी जताते हुए खरी खोटी सुनाई। आयुक्त ने अभिलेखों को एक पखवाड़े के अंदर सुधारने के निर्देश दिए। कहा कि वह पुन: निरीक्षण करेंगे। इसके अलावा उन्होंने प्रखंड व अंचल के नजारत के सभी मद का अवलोकन करने के बाद कहा कि जिस योजना में खर्च नहीं हो पा रहा उसे तुरंत निपटाएं या खर्च नहीं कर पा रहे है तो उस विभाग से संबंधित योजना हेड में वापस कर दें। निरीक्षण के दौरान मुस्तैद प्रखंड व अंचल कर्मियों के पसीने छूट रहे थे। आयुक्त के प्रस्थान करने साथ ही कर्मियों ने राहत की सास ली।

By Jagran