खूंटी, जासं। झामुमो, कांग्रेस व झाविमो आदि विपक्षी दलों ने राष्ट्रवाद के साथ खिलवाड़ किया है। ये सभी दल जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने का विरोध कर रहे थे। जबकि धारा 370 के हटने का सर्वाधिक लाभ जम्मू कश्मीर में बसने वाले आदिवासियों को होगा। उक्‍त बातें भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने सोमवार को कही। वे भाजपा जिला कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। पिछले दिनों भाजपा नेता सह उप मुखिया की पत्नी समेत हुई हत्या पर संवेदना व्यक्त करते हुए उन्‍होंने कहा कि शीतल मुंडा भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता थे।

शीतल मुंडा और उनकी पत्नी मादे मुंडाइन की हत्या से पार्टी मर्माहत है। हमें उम्मीद है कि जल्द ही मामले का खुलासा हो जाएगा और हत्यारे पकड़े जाएंगे। उन्होंने कहा कि झामुमो की बदलाव यात्रा पूरी तरह से फ्लाॅप रही। यह बदलाव यात्रा नहीं बल्कि भटकाव यात्रा थी। आज के दौर में कांग्रेस की बात ही नहीं होनी चाहिए। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष तो अपने सहयोगी दलों को चोर कहते हैं। शाहदेव ने कहा कि खूंटी जिले में नक्सल घटनाओं में पहले की अपेक्षा कमी आई है। वर्ष 2014 में नक्सलियाें द्वारा 10 लोगों की हत्या की गई और इसके अलावा अन्य 80 नक्सल घटनाएं हुईं। जबकि वर्ष 2019 में तीन लोगों की हत्या समेत कुल 31 नक्सली घटनाएं हुईं।

पत्थलगड़ी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि भाजपा ने संयमित तरीके से पत्थलगड़ी की विकृत परिभाषा पर कार्य किया। पत्थलगड़ी करने में राष्ट्रविरोधी शक्तियां शामिल हैं। पत्थलगड़ी कराने वाले बहरूपिए हैं। प्रशासन द्वारा कार्रवाई किए जाने पर वे रूप बदल लेते हैं। इसमें धर्मांतरण कराने वाले लोग भी शामिल हैं। इसके लिए विदेशों से पैसा आता है। इसकी सीआइडी जांच भी की जा रही है। सरकार ने ऐसी शक्तियों को पहचान लिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा चुनाव को लेकर पूरी तरह से तैयार है।

विपक्ष के पास अब तक दूल्हा नहीं है और उन्होंने बारात निकाल दी है। महागठबंधन में विशेष धर्म के धर्मगुरु शामिल हैं जो वोट मांगने का काम करते हैं। चुनाव आयोग से इन धर्मगुरुओं पर नकेल कसने की मांग की जाएगी। मौके पर प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक, भाजपा जिलाध्यक्ष कांशीनाथ महतो व 20 सूत्री क्रियान्वयन समिति के जिला उपाध्यक्ष ओपी कश्यप उपस्थित थे।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप