खूंटी, जासं। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और इस लोकसभा चुनाव में खूंटी से भाजपा उम्मीदवार अर्जुन मुंडा मंगलवार को सांसद कडिय़ा मुंडा से आशीर्वाद लेने उनके अनिगड़ा स्थित आवास जाएंगे। शनिवार को खूंटी लोकसभा सीट से उम्मीदवारी की घोषणा होने के बाद अर्जुन मुंडा ने कडिय़ा मुंडा को मोबाइल से मैसेज कर मिलने का समय मांगा। इस पर उन्होंने रविवार व सोमवार को व्यस्तता का हवाला देते हुए मंगलवार को मिलने के लिए कहा।

आठ बार सांसद, दो बार विधायक व एक बार लोकसभा उपाध्यक्ष रहे सांसद कडिय़ा मुंडा इस लोकसभा चुनाव में टिकट कटने के बाद रविवार को दिनभर अपने आवास में रहे। उनके समर्थक सुबह से ही वहां पहुंचने लगे थे। पूरे दिन समर्थकों का आना-जाना लगा रहा और मोबाइल की घंटी थोड़ी-थोड़ी देर में बजती रही। हालांकि भाजपा का एक भी बड़ा नेता उनसे मिलने नहीं पहुंचा। स्थानीय विधायक सह ग्रामीण विकास मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा ने भी शिष्टाचार भेंट नहीं की।

उल्लेखनीय है कि गत दिनों जब कडिय़ा मुंडा को पद्मभूषण सम्मान से अलंकृत किया गया था, तब भी भाजपा नेताओं को कई दिन बाद उन्हें शुभकामना देने की याद आई थी। दैनिक जागरण से बातचीत के क्रम में कडिय़ा मुंडा ने कहा कि टिकट जरूर कटा है लेकिन कार्यकर्ता होने के नाते जनता की सेवा निरंतर जारी रहेगी।

भाजपा का समर्पित सिपाही होने के नाते पार्टी के निर्देशानुसार इस लोकसभा चुनाव में कार्य करूंगा। उन्होंने कहा कि अर्जुन मुंडा मेरा सहयोगी है और चुनाव में उसकी पूरी मदद करेंगे। पिछले 50 साल से राजनीति में हूं। इस दौरान घर-परिवार को भी उचित समय नहीं दे सका, लेकिन अब परिवार वालों को भी समय दूंगा।

पार्टी ने लिया ऐतिहासिक निर्णय 

बुजुर्ग नेताओं के टिकट काटे जाने के सवाल पर कडिय़ा मुंडा ने कहा कि पार्टी ने ऐतिहासिक निर्णय लिया है। अन्य किसी पार्टी में इतना बड़ा निर्णय लेने की क्षमता नहीं है। यह भाजपा का नया प्रयोग व नई सोच है। परिवर्तन तो होना ही चाहिए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस