पबिया (जामताड़ा) : मंगलवार की रात को नारायणपुर थाना क्षेत्र के पबिया गांव की महिला लीला रवानी (30) का शव गांव के ही दुबे टोला के तालाब से बरामद हुआ है। परिजनों का कहना है कि शाम में नहाने के क्रम में पैर फिसलने के कारण तालाब में डूबने से उसकी मौत हुई होगी। रात में ही मुखिया के कहने पर शव तालाब से बाहर किया गया। पुलिस को सुबह सूचना दी गई। वह डूबकर मरी है या फिर उसकी हत्या की गई है, इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही होगा। पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है। मौत की खबर के बाद से ही पुत्र भोला रवानी (10), जीतू रवानी (8) व सास-ससुर का रो-रोकर बुरा हाल है।

बताया गया कि आठ वर्ष पूर्व लीला रवानी के पति बबलू रवानी की सड़क दुर्घटना में आकस्मिक निधन हो गया था। लीला रवानी के ससुर कालीचरण रवानी ने बताया कि पुत्र बबलू रवानी के निधन के बाद बहू लीला रवानी मानसिक रूप से बीमार रहती थी। उसे बार-बार मिर्गी का दौरा पड़ता था। बीमारी का उपचार भी बराबर किया जा रहा था। वह सुबह और शाम प्रतिदिन स्नान किया करती थी। मंगलवार की शाम के समय नित्य क्रिया कर तालाब में स्नान करने को गई घर वापस नहीं आई। विलंब होने पर गांव के अगल-बगल खोजबीन करने लगे। तभी गांव के कुछ लोगों ने बताया कि तालाब में एक महिला का शव पानी में तैर रहा है। देखने पर पता चला वह बहू ही थी। ग्रामीणों ने तालाब से शव बाहर निकाला। उसके बाद पंचायत के मुखिया को सूचना दी गई। मुखिया ने बताया कि सभी संगे-संबंधी को घटना की जानकारी दे दें। पुलिस को सुबह जानकारी दी जाएगी। ग्रामीणों ने बताया कि लीला की मौत तालाब में नहाने के क्रम में मिर्गी का दौरा पड़ने से हुई होगी। मौके पर पहुंचकर नारायणपुर थाना के एसआइ ओजेर अहमद खान ने छानबीन शुरू की। ग्रामीणों का बयान लेकर शव को पोस्टमार्टम के लिए जामताड़ा भेज दिया गया। खान ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा कि उसकी मौत कैसे हुई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप