मुरलीपहाड़ी (जामताड़ा) : सीडीएस जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी के अलावा 11 अन्य सैन्य अफसरों के निधन पर हर ओर शोक की लहर है। शनिवार रात्रि में नारायणपुर प्रखंड के चैनपुर शिव मंदिर प्रांगण में गणमान्य लोगों ने शहीद लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की। शिव मंदिर प्रांगण में स्थानीय बुद्धिजीवियों ने श्रद्धांजलि सभा आयोजित की थी। इसमें उपस्थित लोगों ने एक-एक कर शहीद हुए लोगों के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। साथ ही दो मिनट मौन धारण कर हेलीकाप्टर दुर्घटना में जान गवाने वाले सैन्य अधिकारियों तथा सीडीएस की पत्नी के आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से कामना की।

इस बाबत किशोर दत्त ने कहा कि इस हादसे को भुलाया नहीं जा सकता है। जनरल बिपिन रावत ने देश के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है। वहीं अन्य सैन्य अधिकारियों ने भी अपनी भूमिका निभाई है। एक हादसे में हमने देश के वीर सपूतों को खो दिया है, जो कि बहुत ही दुखदाई है। उनकी क्षति कभी भी पूरी नहीं हो सकती है। वहीं, शिक्षक रंजीत दे ने कहा कि बिपिन रावत सच्चे देशभक्त थे। उनके नेतृत्व में तीनों सेनाओं का मनोबल हमेशा ऊंचा रहा है। उसके बाद वहां उपस्थित लोगों ने हादसे में शहीद जनरल व अन्य अधिकारियों के चित्र के समक्ष मोमबत्ती जलाकर श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर सियाराम भंडारी, अनंत कुमार चौबे, भजन सेन, संतोष रक्षित, मुकेश रक्षित, तपन दत्त, राहुल देव चौबे आदि उपस्थित थे।

Edited By: Jagran