जागरण संवाददाता, जामताड़ा : यह जामताड़ा टाउन थाने की पुलिस की अजब गजब कहानी है। बुधवार को जामताड़ा टाउन थाने की पुलिस नागालैंड नंबर के ट्रक को पकड़ती है। इसमें सफेद पत्थर की बजरी लदी थी। पुलिस यह लोड ट्रक थाने ले गई। मगर यह क्या, उसी दिन माल समेत ट्रक थाने से चोरी हो गया। पुलिस ने इस पर ध्यान नहीं दिया, ना ही ट्रक की तुरंत तलाश की। ट्रक भागलपुर तक सरपट निकल गया। माल अनलोड हो गया। उसके बाद शुक्रवार को पुलिस तंत्र जागा। ट्रक को भागलपुर से जब्त कर वापस जामताड़ा थाना लाया गया। माल अनलोड होते ही ट्रक का ड्राइवर भी फरार हो गया।

तो क्या ट्रक के भागलपुर तक पहुंचने का इंतजार कर रही थी पुलिस!

ट्रक के गायब होने व फिर बरामद होने के बाद स्थानीय लोगों में अनेक चर्चाएं हैं। इनका कहना है कि जामताड़ा से लोड ट्रक भागलपुर तक कम से कम आठ घंटे में पहुंचा होगा। जामताड़ा से भागलपुर के बीच ट्रक कई थाना क्षेत्रों से गुजरा होगा। ट्रक चोरी के प्रति पुलिस सजग होती तो अन्य थानों को अलर्ट करती, ट्रक पकड़ा जाता। बावजूद जामताड़ा की पुलिस गंभीर नहीं हुई, न ट्रक की तलाश में जुटी। किसी थाने को भी सूचना नहीं दी। जो ड्राइवर जामताड़ा में पकड़ा गया था, वह भी हाथ से निकल गया। भागलपुर में ट्रक पर लदा माल अनलोड होते ही पुलिस ने उसे बरामद कर लिया। कुछ तो खेल हुआ ही है।

डीआइजी ने शुरू कराई जांच

जामताड़ा टाउन थाना पहुंचे डीआइजी सुदर्शन मंडल इस मामले में बेहद गंभीर हैं। उन्होंने जामताड़ा एसपी मनोज स्वर्गियारी, एसडीपीओ आनंद ज्योति मिंज और थाना प्रभारी अब्दुल रहमान के साथ बैठक की। मामले की जांच के आदेश दिए। पुलिस टीम ट्रक ड्राइवर, मालिक का पता लगा रही है। संताल परगना प्रक्षेत्र के डीआइजी सुदर्शन मंडल ने कहा कि थाने से ट्रक गायब होना एक गंभीर मामला है। पूरे मामले की तहकीकात की जा रही है। जांच पूरी होने के बाद ही सही कारणों का पता चल सकेगा।

Edited By: Gautam Ojha