नारायणपुर (जामताड़ा) : नारायणपुर प्रखंड के भागाबांध ग्राम में प्रस्तावित पावर ग्रिड निर्माण कार्य आरंभ नहीं होने से यहां के लोगों में निराशा है। उपभोक्ताओं का कहना है कि भागाबांध में पावर ग्रिड बनने से प्रखंड क्षेत्र के लोगों को बिजली समस्या से मुक्ति मिल जाएगी परंतु ऐसा नहीं हो पा रहा है। लोगों ने पावर ग्रिड निर्माण कार्य शुरू करने की मांग विभाग से की है। यहां बताते चलें कि प्रखंड के सभी 240 गांवों में वर्तमान समय में जंगलपुर स्थित विद्युत सबस्टेशन से विद्युत आपूर्ति की जा रही है। नारायणपुर लाइन के 33 हजार केवीए लाइन का तार व इंसुलेटर जर्जर है। मौसम खराब होने पर कई दिनों तक बिजली बाधित हो जाती है। बताते चलें कि भागाबांध की 18 एकड़ जमीन पावर ग्रिड निर्माण के लिए उपलब्ध करवाई गई है। समय-समय पर पावर ग्रिड निर्माण की स्वीकृति मिलने, कार्य का जिम्मा एजेंसी को दिए जाने समेत अन्य बातें हुई परंतु निर्माण कार्य आरंभ होना शेष है।

--- क्या कहते हैं ग्रामीण

---जामताड़ा ग्रिड से नारायणपुर विद्युत सबस्टेशन तक 33 हजार केवीए का तार-इंसुलेटर बहुत ही जर्जर हैं। जरा सा मौसम खराब होने पर कई दिनों तक बिजली गुल हो जाती है। इसलिए आवश्यक है कि भागाबांध में जल्द से जल्द पावर ग्रिड का निर्माण हो।

अजीत मंडल, ग्रामीण

नारायणपुर प्रखंड क्षेत्र में बिजली की हालत बहुत ही खराब है। बिजली की अनियमित आपूर्ति से परेशान हैं। विभाग को इस ओर ठोस पहल करनी चाहिए ताकि व्यवस्था में सुधार हो सके।

मदन कुमार, ग्रामीण

-- समय-समय पर भागाबांध में पावर ग्रिड निर्माण की बात सुनने को मिली है परंतु काफी समय बाद भी निर्माण कार्य आरंभ नहीं हो पाया है। इसलिए विभाग को इस पर त्वरित कार्रवाई करनी चाहिए ताकि निर्माण कार्य आरंभ हो सके और हमारी समस्या का समाधान हो सके।

रोहित कुमार, ग्रामीण

-- यह बहुत ही अच्छी योजना है इस योजना को जल्द से जल्द अमलीजामा पहनाया जाना चाहिए ताकि क्षेत्र के लोगों की समस्या का समाधान हो सके। पावर ग्रिड बन जाने से लोगों को राहत मिल जाएगी।

छक्कू दास, ग्रामीण

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस