जामताड़ा : विस चुनाव शांति व स्वच्छ वातावरण में संपन्न कराने को उत्पाद विभाग ने सख्ती तेज कर दी है। उत्पाद विभाग ग्रामीण क्षेत्रों में तैयार हो रही अवैध देसी शराब निर्माण व बिक्री के साथ होटलों में बिक रहे शराब पर प्रतिबंध लगाने को लेकर इलाके में नियमित छापेमारी कर रहा है। विभाग की ओर से गठित कई टीम विभिन्न थाना क्षेत्रों में छापेमारी की कार्ययोजना बनाई है। विभाग ने अवैध शराब निर्माण करने, बेचने व पीनेवाले को भी दंडित करने का निर्णय लिया है। उत्पाद अधीक्षक दिलीप कुमार सिंह ने नियमित छापेमारी को लेकर तीन टीम गठित की है। टीम का नेतृत्व उत्पाद विभाग के अधिकारी कर रहे हैं। छापेमारी टीम में पदाधिकारी के साथ सुरक्षा बल पर्याप्त संख्या में शामिल किया गया है। विभाग ने सुदूरवर्ती क्षेत्र में भी सूचक तैयार कर रखा है। यही ग्रामीण क्षेत्र में अवैध शराब निर्माण, बिक्री व पीने से संबंधित हर गतिविधियों की जानकारी उत्पाद विभाग तक पहुंचा रहा है। इसी सूचना पर छापेमारी की जा रही है। इसी कार्य योजना के तहत शनिवार को नारायणपुर व जामताड़ा थाना क्षेत्र में कई प्रमुख होटलों में छापेमारी कर विदेशी शराब जब्त की गई थी। रामलखन होटल से शराब जब्त करने के साथ एक कर्मी को भी गिरफ्तार किया गया।

--शराबी मांग बढ़ी : इस चुनावी मौसम में जिले भर में देसी-विदेशी शराब की मांग बढ़ने लगी है। विदेशी शराब की बिक्री विभागीय नियंत्रण में होने के कारण इसमें घालमेल तो नहीं हो पा रहा है पर देसी शराब की खपत जहां-तहां बढ़ती जा रही है। इसकी भरपाई ग्रामीण क्षेत्र में बनाकर की जा रही है। सुदूरवर्ती गांवों में बड़ी संख्या में अवैध देसी शराब बनाने की भट्ठियां धधक रही हैं। इस धंधे में महिलाओं से लेकर बच्चों तक को जोड़ा गया है। ताकि कोई शक न करें।

-- विदेशी शराब महंगाी, देसी अपनाई : विदेशी शराब के दामों में लगातार हो रहे बढ़ोतरी के कारण मजदूर और देहात के लोगों के लिए महंगी अंग्रेजी शराब मन से फिसलती जा रही है। नतीजतन अवैध देसी शराब से ये लोग अपना शौक पूरा करते हैं। इसे बनाने में यूरिया खाद से लेकर खतरनाक जानलेवा रसायन तक प्रयोग किश जाता रहा है।

--वर्जन : अवैध शराब निर्माण, बिक्री करनेवालों के साथ पीनेवाले लोगों पर भी उत्पाद विभाग की पैनी नजर है। पूर्व में इस अवैध करोबार में जुटे व्यक्तियों पर कार्रवाई की गई है। इसके बाद भी लोग अवैध धंधे से जुड़े हैं तो कार्रवाई के लिए लोग तैयार रहें। अवैध शराब निर्माण, बिक्री करनेवालों के साथ पीनेवालों पर नियंत्रण लाने को लेकर कई बार छापेमारी टीम गठित कर छापेमारी शुरू की गई है। दिलीप सिंह,उत्पाद अधीक्षक।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस