जामताड़ा, जेएनएन। जामताड़ा जिले के विद्यासागर (करमाटांड़) बस्ती में मोबाइल चोरी के मामले में खंभे से बांधकर तीन आरोपितों की पिटाई की गई। हालांकि तीनों ने अपनी संलिप्तता स्वीकार नहीं की। उनका कहना था कि वे निर्दोष हैं। इस दाैरान कुछ लोगों ने विरोध भी किया। इसके बाद तीनों को छोड़ दिया गया और मामले को आपस में ही सलटा लिया गया। पुलिस को इसकी सूचना नहीं दी गई।

दरअसल, सोमवार सुबह विद्यासागर (करमाटांड़) बस्ती की मस्जिद के इमाम मौलाना फखरुद्दीन अंसारी जब नमाज पढ़ा रहे थे तो किसी ने उनकी मोबाइल चोरी कर ली। इसके बाद तीन लोगों को चोरी के शक पर दबोच लिया गया। वे भी मस्जिद परिसर में देखे गए थे। भड़के लोगों ने तीनों को बिजली के खंभे से बांध कर पीटा।  

स्थानीय लोगों ने बताया कि चोरी के आरोप में सोनू शेख व उसके दो साथियों को पकड़ा गया था। तीनों से काफी देर तक पूछताछ की गई। अंत तक सभी यही कहते रहे कि चोरी नहीं की है। उनके पास से मोबाइल भी नहीं मिला। तब उन्हें मुक्त कर दिया गया। तीनों करमाटांड़ बस्ती के ही रहने वाले हैं। मौके पर काफी भीड़ वहां जमा हो गई थी।

इधर, कुछ लोगों ने इस बात पर नाराजगी जताई कि तीनों को खंभे से बांधकर पीटना गलत था। कानून हाथ में लेने का किसी को हक नहीं है। यदि उनपर शक था तो पुलिस को बुलाना चाहिए था। पुलिस जांच करती। मोबाइल चोरी की लिखित सूचना नहीं होने के कारण पुलिस ने भी मामले में दिलचस्पी नहीं दिखाई। 

Posted By: Mritunjay

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस