जागरण संवाददाता, जामताड़ा: एसपी अंशुमान कुमार ने बुधवार को अपराध नियंत्रण की मासिक समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने पदाधिकारियों से कहा कि जिले में कहीं भी अवैध उत्खनन व परिवहन नहीं होना चाहिए। इसे रोकने के लिए आगे की कार्रवाई संबंधित विभाग को का करनी है, पर सभी पुलिसकर्मियों का दायित्व बनता है कि डीएमओ व डीटीओ को तत्काल बढ़-चढ़कर सहयोग करें, ताकि अवैध उत्खनन व परिवहन पर पूर्णत: रोक लग सके।

पुलिस पर नहीं लगना चाहिए किसी तरह का आरोप: उन्होंने कहा कि अगर किसी थाना क्षेत्र में ऐसे आर्थिक अपराध हो रहे हैं तो इसकी तत्काल सूचना डीएमओ व डीटीओ को दें। एसपी ने सख्त हिदायत दी कि पुलिस पर यह आरोप नहीं लगाना चाहिए कि उनकी नजर में अवैध उत्खनन व परिवहन हो रहा है।

बालू व कोयले के अवैध कारोबारियों पर भी रखें नजर: एसपी ने बालू व कोयले के अवैध कारोबारियों व उनकी गतिविधियों पर नियमित नजर रखने को कहा। शराब के अवैध कारोबार पर अंकुश लगाने का निर्देश दिया। कहा कि ऐसे अवैध धंधे को रोकने के लिए उत्पाद विभाग को हरसंभव सहयोग करें। कुछेक क्षेत्रों में हुई चोरी की घटनाओं को लेकर संबंधित थानेदारों को खरी-खोटी भी सुननी पड़ी। इलाके में अपने सूचना तंत्र को मजबूत करने व जनता का विश्वास जीतने की सलाह एसपी ने दी। सभी थानेदारों व इंस्पेक्टर से लंबित कांडों के हुए निष्पादन व जुलाई माह में हुए अपराध की रिपोर्ट थानावार ली। लंबित कांडों के अनुसंधान की प्रगति की जानकारी ली।

साइबर अपराधियों पर बनाए रखें दबाव: बैठक में बताया गया कि पिछले माह 15 आपराधिक कांड विभिन्न थानों में दर्ज किए गए हैं। एसपी ने साइबर अपराध की रोकथाम के लिए साइबर प्रभावित इलाकों में नियमित निगरानी रखने, नियमित छापेमारी करने का निर्देश दिया, ताकि साइबर ठगों पर पुलिस का दबाव बना रहे। प्रशिक्षु पुलिस पदाधिकारियों के कामकाज की जानकारी ली। साथ ही कहा कि उनकी कार्यशैली व कार्यप्रगति की समीक्षा आगे भी की जाएगी।

ये रहे मौजूद: बैठक में एसडीपीओ अरविद उपाध्याय, नाला एसडीपीओ मनोज कुमार झा, साइबर डीएसपी सुमित कुमार, इंस्पेक्टर सुनील चौधरी, मनोज कुमार, थानेदार रामशरीख तिवारी, अजीत कुमार आदि थे।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस