जामताड़ा : त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों के समय विस्तार समाप्त होने पर अब मनरेगा योजना में काम करनेवाले मजदूरों की मजदूरी राशि का भुगतान प्रखंड विकास पदाधिकारी व प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी के संयुक्त डोंगल से होगा। कई प्रखंड में प्रखंड विकास पदाधिकारी व प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी का डिजिटल डोंगल सक्रिय नहीं होने के कारण मजदूरों के भुगतान पर प्रश्नचिह्न खड़ा हो रहा है। जिन प्रखंड में डोंगल काम कर रहा है, वहां मजदूरों का भुगतान हो रहा। मुखिया व पंचायत सचिव के डोंगल की वैधता समाप्त होने पर हजारों मजदूरों का भुगतान फंसा हुआ है।

पिछले दिनों राज्य सरकार ने त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों का छह माह तक की अवधि के लिए सेवा विस्तार की थी। अवधि पिछले 15 जुलाई को समाप्त हो चुका है। उप विकास आयुक्त अनिल सन लकड़ा ने बताया की मजदूरी राशि का भुगतान बाधित नहीं हो, इसको लेकर जिला प्रशासन गंभीर है। इस संबंध में सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है कि प्रखंड विकास पदाधिकारी व प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी के डोंगल से मजदूरों का मजदूरी राशि का भुगतान प्रक्रिया पूर्ण करें। जिस प्रखंड में डोंगल चालू नहीं हो पाया वहां 24 घंटे के अंदर डोंगल चालू कराएं। उप विकास आयुक्त ने कहा कि यह समस्या दो तीन प्रखंडों में है। इसका समाधान शीघ्र होगा। शेष प्रखंड में भुगतान हो रहा है।

Edited By: Jagran