जामताड़ा : जिले के 113 भवन विहीन आंगनबाड़ी केंद्रों का निर्माण मनरेगा और समाज कल्याण विभाग से आवंटित राशि से की जाएगी और आईटीडीए के तहत एमएसडीपी योजना से 20 आंगनबाड़ी केंद्र का निर्माण किया जाएगा। इस कार्य के लिए पूर्व में ही भूमि का सत्यापन हो चुका है फिर भी एलएस को भूमि सत्यापन करने का निर्देश दिया गया है, ताकि भवन निर्माण कार्य किया जा सके। शनिवार को डीसी कार्यालय के सभाकक्ष में मनरेगा तथा महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग के द्वारा प्रदत्त राशि से अभिसरण से आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण संबंधित बैठक को संबोधित करते हुए उपायुक्त गणेश कुमार ने उक्त निर्देश दिया। उपायुक्त ने जानकारी दिया कि इसके तहत नारायणपुर में 39 आंगनबाड़ी केंद्र निर्माण की स्वीकृति प्राप्त थी और करमाटांड़ प्रखंड के लिए एक भी स्वीकृत नहीं रहने से आवश्यकता के अनुरूप करमाटांड़ प्रखंड के लिए 20 भवन निर्माण के लिए चयन किया गया।

उपायुक्त ने सभी सीडीपीओ को संवेदनशीलता का परिचय देते हुए बच्चों को पौष्टिक आहार की उपलब्धता सुनिश्चित करने को कहा। उपायुक्त ने कहा कि एक सप्ताह के अंदर प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के कार्य में प्रगति लाए, नहीं तो संबंधित पदाधिकारी एवं कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

उप विकास आयुक्त नागेंद्र कुमार सिन्हा ने कहा कि अविलंब भूमि का सत्यापन कर सूची उपलब्ध कराने को कहा। मौके पर डीआरडीए निदेशक रामवृक्ष महतो, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी स्नेह कश्यप, परियोजना पदाधिकारी मोतिउर रहमान, अनूप कुमार, नलिनी चौबे, सभी सीडीपीओ, एलएस एवं संबंधित कर्मी उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021