जामताड़ा : सर्वोच्च न्यायालय की ओर से एससी-एसटी एक्ट से संबंधित दिये गये फैसला की केंद्र सरकार द्वारा उपेक्षा करने के विरोध में एससी-एसटी विरोध मंच ने गांधी मैदान में बैठक कर कहा कि कोर्ट का फैसला जनहित में प्रभावकारी था। लेकिन केंद्र सरकार ने महज 15 फीसदी आबादी को खुश रखने के लिए 85 फीसदी गैर एससी-एसटी के अधिकार को अनदेखी करने का काम किया है। सरकार की इस अनदेखी से देश की 85 फीसदी आबादी के साथ अन्याय हुआ है। लोगों ने इस संबंध में कोर्ट व सरकार के निर्देश पर ¨चतन मनन किया। कहा कि 85 फीसद आबादी के पक्ष में सरकार व्यवस्था नहीं बनाएगी तो मंच आंदोलन को विवश होगा। बैठक की अध्यक्षता पशुपति देव ने की। बैठक में उमाकांत झा, मुरलीधर ¨सह, संतोष पौद्दार, सुनील कुमार झा, प्रभु मंडल, जीवेश्वर मिश्रा, रामगोपाल अग्रवाल, कपिलदेव प्रसाद, सत्य प्रकाश आदि लोग शामिल थे।

Posted By: Jagran