जामताड़ा : कोरोना वायरस की रोकथाम व ग्रसित मरीजों के उपचार को लेकर सदर अस्पताल में शुक्रवार को सुसज्जित आइशोलेशन वार्ड का शुभारंभ उपायुक्त गणेश कुमार ने किया। मौके पर सिविल सर्जन डॉ. आशा एक्का, डीपीएम संगीता लूसी बाला एक्का, प्रभारी अस्पताल उपाधीक्षक डॉ. दुर्गेश झा, एसएनसीयू चिकित्सक डॉ. कृति पाठक आदि मौजूद थे। मौके पर उपायुक्त ने कहा चीन में कोरोना वायरस की तबाही को देखते हुए राज्य मुख्यालय के निर्देश पर जिला स्तरीय सदर अस्पताल में दस बेड क्षमतावाला सुसज्जित आइशोलेशन वार्ड को चालू किया गया।

डीसी ने बताया कि आइशोलेशन वार्ड के सफल क्रियान्वयन के लिए डॉ. दुर्गेश झा को वार्ड का प्रभारी बनाया गया है। इनकी देखरेख में चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित मरीजों का बेहतर उपचार करेंगे। डॉ. दुर्गेश झा ने उपायुक्त को आइशोलेशन वार्ड में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी देते हुए बताया कि यह वार्ड तीन अलग-अलग खंड में विभाजित है। पहले खंड में चार बेड स्थापित है। जहां प्रत्येक बेड में वैंटिलेशन समेत आपातकालीन स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध है। इस वार्ड में गंभीर अवस्था में मरीजों को सात दिनों तक रखा जाएगा। सांस लेने की प्रक्रिया सामान्य होने पर दूसरे नम्बर वार्ड में भर्ती किया जाएगा। जहां मरीज स्वयं सांस ले सकेंगे लेकिन चिकित्सक की निगरानी में सात दिनों तक उपचार चलेगा। मरीज की स्थिति सामान्य होने के उपरांत उन्हें तीसरे नंबर वार्ड में एक दिन तक जाएगा। फिर उसे अस्पताल से मुक्त किया जाएगा। तीनों वार्ड में प्रत्येक मरीज के लिए बेड के साथ एक-एक लॉकर की व्यवस्था बनाई गई है। मरीज के खाने-पीने व पहनने का समान उसी लॉकर में बंद रहेगा। आइशोलेशन वार्ड में सदर अस्पताल में पदस्थापित स्वास्थ्य कर्मियों को प्रतिनियुक्त किया जाएगा। मौके पर सीएस डॉ. आशा एक्का, डीपीएम संगीता लूसी वाला एक्का, चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. दुर्गेश झा, डॉ. कृति पाठक, प्रभारी अस्पताल प्रबंधक बीणा बायलोड, भंडार पाल हर्ष कुमार, मंटू कुमार, सुरेश कुमार समेत अस्पताल कर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस