जामताड़ा/नारायणपुर : नारायणपुर थाना क्षेत्र के रूपडीह जोरिया के पास फुलझरिया निवासी इमरान अंसारी की हत्या की मुख्य वजह रुपये के लेन-देन को लेकर आपसी रंजिश बताया जा रहा है। इमरान का आपराधिक इतिहास रहा है। वह नावाडीह ग्राहक सेवा के संचालक से 2.74 लाख की लूट में हाल में जेल से निकला था। संभवत: इसी राशि के बंटवारे में अन्य अपराधियों को तय राशि नहीं देने पर उसकी हत्या सहयोगियों ने कर दी। उसके पिता इस्माइल ने दर्ज प्राथमिकी में रंजिश का जिक्र किया है। चार नामजद समेत छह लोगों को अभियुक्त बनाया है। अब पुलिस हत्या में शामिल सभी आरोपितों की तलाश कर रही है।

-इनको ढूंढ रही पुलिस : हत्या को ले इमरान के पिता इस्माइल मियां के आवेदन पर नारायणपुर थाना में कांड संख्या 97/18 दर्ज किया गया है। मामले में नारायणपुर थाना क्षेत्र के पहाड़पुर के शफरूद्दीन उर्फ बीर, फुलझरीया के नईम मियां का पुत्र, गांडेय थाना क्षेत्र के बागडीह के महबूब मियां, अहिल्यापुर थाना क्षेत्र के पंडरिया के इम्तियाज मियां समेत अज्ञात दो लोगों को आरोपित बनाया है। इन लोगों पर पुरानी रंजिश में इमरान को घर से बुलाकर ले जाने और हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस उक्त आरोपितों के पुराना आपराधिक इतिहास भी ढूंढ रही है। ताकि यह भी अनुसंधान में स्पष्ट हो सके कि इमरान की हत्या करने वाला उसकी जान-पहचान के अलावा अपराधी भी था।

-हत्या के पहले मुरलीपहाड़ी मोड़ पर दिखा था : सूत्रों के अनुसार ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक से लूट कांड में हाथ आए रुपये इमरान की जानकारी में ही था। उसी ने लूट में शामिल अन्य सहयोगियों को ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक को लूट के पहले वास्तविक लोकेशन बताया था। बताया गया कि 30-32 हजार रुपये बकाया की मांग उसके सहयोगी कर रहे थे। जेल से निकलने के बाद भी जब रुपये नहीं मिले तो अंत में उसे घर से बुलाकर सुनसान जगह में रात को हत्या कर दी गई। इमरान को शनिवार रात आठ बजे घर से बाइक सवार तीन लोग बुलाकर ले गए थे। फिर सुबह उसका शव नदी किनारे गड्ढेनुमा सुनसान इलके में मिला था। उसके पिता इस्माइल के अनुसार शनिवार शाम बजे इमरान को तीन लोग घर से बुलाकर ले गए। रात आठ बजे तक नईम के पुत्र के साथ इमरान मुरलीपहाड़ी मोड़ पर ही था। बाद में अन्यत्र ले जाकर उसकी हत्या की गई।

-पुलिस का हाथ खाली : इमरान अंसारी की हत्या की तीसरी रात गुजरने के बाद भी पुलिस किसी आरोपित को अपनी गिरफ्त में नहीं ले सकी है। हालांकि पुलिस ने रविवार रात से ही अपराधियों के संभावित ठिकानों में छापेमारी कर रही है। क्षेत्र में बढ़ी आपराधिक घटना के अलावा गिरिडीह के अहिल्यापुर एवं गांडेय थाना क्षेत्र के अपराधियों की दखल से भी नारायणपुर पुलिस को निपटना होगा। यह पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है।

-सुबह नौ बजे दी गई मिट्टी : फुलझरिया के इमरान अंसारी को गांव के कब्रिस्तान में सोमवार की सुबह नौ बजे मिट्टी दी गई। परिजनों के अलावा अन्य लोगों की आंखें भी नम थी। उनके पिता के अनुसार इमरान आपराधिक गतिविधि छोड़ चुका था। अब वह राफ-साफ काम के जरिए पूरे परिवार का बीड़ा उठाए हुए था।

---

वर्जन

-पुलिस प्राथमिकी दर्ज कर आरोपितों की तलाश में छापेमारी कर रही है। अपराधी शीघ्र गिरफ्तार होंगे। पुलिस को कई सुराग हाथ लगा जिसके बारे में फिलहाल स्पष्ट नहीं किया जा सकता है। उसकी हत्या लूट की राशि के बंटवारे को लेकर ही हुई या अन्य वजह से यह अनुसंधान में आगे उजागर होगा।

-सुमित कुमार, डीएसपी

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप