जामताड़ा, जासं। जामताड़ा नगर थाना क्षेत्र के राखवन इलाके में सनकी हत्यारा दामाद बहादुर रवानी ने गुरुवार मध्यरात्रि के बाद सास सरस्वती देवी 55 वर्ष, पत्नी राधा देवी 25 वर्ष की कुल्हाड़ी से मार कर नृशंस हत्या कर दी। बहादुर देवघर के मधुपुर के पाठकतेरिया निवासी है। राखवन में घर जमाय बनकर रहता था। बहादुर दोनों की हत्या कर कमरे में ही रहा। जानकारी मिलने के बाद अलसुबह पुलिस ने पहुंच कर उसे मौके से गिरफ्तार कर लिया है।

बहादुर रवानी से राधा देवी की शादी 12 वर्ष पूर्व  हुई थी। 7-8 महीने से वह ससुराल में रह रहा था। वह जामताड़ा में मजदूरी का काम करता था। मृतक राधा देवी के पिता लखी रवानी ने बताया कि उनकी पत्नी, बेटी और दामाद के साथ बच्चे  अलग-अलग कमरे में सोये थे। अचानक तीन बजे भोर में बंद कमरे से चिल्लाने की आवाज आई। दरवाजा बंद रहने के कारण खिड़की से देखा तो दामाद कुल्हाड़ी से उनकी पत्नी पर वार कर रहा था। पत्नी खून से लथपथ हो गई थी। दरवाजा खोलने को कहने पर उन्हें भी कुल्हाड़ी दिखाने लगा।

चिल्लाने पर आसपास के लोग जुटे और दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया गया पर नहीं टूटा। पुलिस पहुंची तब बहादुर निकला। बहादुर ने बताया कि बच्चे और वह कमरे में सोया था।पत्नी सास के साथ बरामदा में सोयी थी। तीन बजे भोर उठे तो पत्नी सास के बिस्तर से गायब मिली। बाहर निकल कर देखने पर बगल के कमरे में पत्नी साढ़उ देवेंद्र नाथ के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिली।

मेरी उपस्थिति का आभाष होने पर देवेन्द्र वहां से भाग निकला। फिर कमरे की कुंडी अंदर से बंद  कर बारी-बारी से पत्नी व सास की हत्या कर दी। बताया कि आसपास के लोग जमा हो गए थे, इसलिए  बंद कमरे में ही रहना सुरक्षित समझे।  पुलिस आने के बाद निकले। देवेन्द्र का घर उत्तरप्रदेश है और दिल्ली में काम करता है। तीन दिन पूर्व ही वह यहां आया था। पुलिस शवों का अंत्यपरीक्षण करवाने में जुटी है। परिजन शव के साथ नगर थाने में है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस