जामताड़ा : आदर्श गांव के लोगों को रोजगार से जोड़ने के लिए जेएसएलपीएस (झारखंड राज्य आजीविका संवर्धन सोसायटी) समूह का गठन कर रोजगारपरक प्रशिक्षण की व्यवस्था करें। इससे संबंधित गांव की महिलाओं को रोजगार देकर समृद्ध बनाया जा सकें। गुरुवार को अपने कार्यालय कक्ष में उपायुक्त डॉ. जटाशंकर चौधरी ने जिला आदर्श ग्राम समिति की बैठक में उक्त बाते कहीं। उपायुक्त आदर्श ग्राम योजना के तहत किए जा रहे कार्य व वस्तुस्थिति से अवगत हुए तथा सभी कार्यो का नियमित निरीक्षण करने का निर्देश दिया। मौके पर उप विकास आयुक्त नागेंद्र कुमार सिन्हा ने कहा कि नाला विधानसभा क्षेत्र में खैरा एवं जामताड़ा विधानसभा क्षेत्र में बड़जोड़ा गांव का आदर्श ग्राम योजना के तहत चयनित किया गया है। यहां ग्राम संसद भवन, ग्राम अखाड़ा, एम्बुलेंस एवं प्रोजेक्टर आदि की सुविधा उपलब्ध करा दी गई है। पेय जलापूर्ति का कार्य चल रहा है। उपायुक्त ने चयनित आदर्श ग्राम में किए गये कार्यो की देखभाल एवं प्रयोग के लिए ग्राम स्तर पर समिति बना कर उन्हें हस्तांतरण कराने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने एंबुलेंस एवं प्रोजक्टर के प्रयोग के लिए लॉग बुक बनाने को कहा ताकि यह पता चल सके कि इसका कहा प्रयोग किया जा रहा है। उन्होंने आदर्श ग्राम योजना के तहत उक्त गांव में पेय जलापूर्ति कार्या की समीक्षा की तथा सारे कार्यो को जल्द पूर्ण करा लेने को कहा। उपायुक्त ने उक्त गांव के विद्यालयों में पठन-पाठन की व्यवस्था को और दुरूस्त करने को कहा। जरूरत हो तो शिक्षकों की संख्या में भी वृद्धि करने को कहा। मत्स्य विभाग के पदाधिकारी को उक्त गांव के तालाबों का जीर्णोद्धार, बीज वितरण, मछली पालन का प्रशिक्षण आदि देकर लोगो को स्वरोजगार से जोड़ने को कहा। उपायुक्त ने जिला आदर्श ग्राम समिति के सदस्यों को संबधित सभी विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर कार्य प्रगति का प्रतिवेदन आदि लेते रहने को कहा एवं इसे प्रगति पोर्टल पर भी अपलोड करने को कहा। इस मौके पर सिविल सर्जन आशा इक्का, आदर्श ग्राम योजना समिति के सदस्य, जेएसएलपीएस के जिला कार्डिनेटर रीता सिंह आदि उपस्थित थे।

इधर,उपायुक्त ने राजस्व तथा भू-अर्जन से संबंधित मामलों की समीक्षा बैठक की। जिले में म्यूटेशन, लगान वसूली आदि की अद्यतन स्थिति से अवगत हुए तथा राजस्व वसूली आदि में वृद्धि को ले कई अहम निर्देश दिया। उन्होंने सभी अंचल से मानक प्रचालन प्रक्रिया के तहत राजस्व से संबंधित समस्याएं, राजस्व में वृद्धि के लिए क्या हो सकता है बेहतर आदि के लिए मंतव्य मांगा गया हैं। इसे सभी अंचलाधिकारियों को अविलंब जिला में जमा करने को कहा ताकि राज्य स्तर पर भेज कर सभी का समाधान किया जा सके। जामताड़ा जिले का लगान वसूली का प्रतिशत 71 को और बेहतर करने के लिए जिला एवं राज्य स्तर पर समन्वय स्थापित कर बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। मौके पर उपस्थित अपर-समाहत्र्ता नन्द किशोर लाल ने बताया कि जिले में लोगो के खतियान में कुछ गड़बड़ियां है जिसे एनआईसी रांची से संपर्क कर सुधार कराया जा रहा है। उपायुक्त ने कहा कि म्यूटेशन मामलों का सभी प्रखंड स्तर जल्द समाधान कराए। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी अंजना दास को निर्देश दिया कि भू-अर्जन से संबंधित मामलों की बिन्दुवार सूची बनाएं एवं जिला स्तर पर विस्तृत चर्चा कर मूल्यांकन कार्य करते हुए लाभुकों को भुगतान की प्रक्रिया शुरू करें।

बैठक में उपायुक्त ने सभी पदाधिकारियों को संचालित विकास कार्यो का समय पर पूर्ण करने को कहा ताकि जामताड़ा राज्य स्तर पर अव्वल साबित हो।

Posted By: Jagran