जामताड़ा/ पबिया : टिकट की दौड़ में पिछड़ने के साथ ही जामताड़ा विधानसभा क्षेत्र में विष्णु भैया के खेमे में मायूसी है जबकि टिकट मिलनेवाले खेमे में उत्साह है। शीर्ष नेतृत्व ने इस सीट से भाजपा नेता वीरेंद्र मंडल को अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया है, जबकि टिकट की दौड़ में पूर्व विधायक विष्णु प्रसाद भैया, तरुण गुप्ता आदि शामिल थे। दिल्ली में ही सभी कैंप किए हुए थे। टिकट मिलने के साथ वीरेंद्र मंडल मंगलवार को यहां पूरे तामझाम के साथ पहुंचे। कानगोई में उनका भव्य स्वागत किया गया। वहां से जुलूस की शक्ल में सभी समर्थक नाचते-गाते गाजे-बाजे के साथ शहर का भ्रमण किया। मंडल ने सबों को अभिवादन भी किया। पूर्व विधायक विष्णु भैया भी जामताड़ा पहुंच चुके हैं। दोपहर से ही उनके दुमका रोड स्थित आवास में समर्थकों का तांता लगा हुआ है। भैया ने दूरभाष पर पार्टी के निर्णय पर कहा कि उनका मन अब भाजपा से पूरी तरह टूट चुका है। यह असंतोष मेरा नहीं जनता व कार्यकर्ताओं का है। वे चुनाव लड़ेंगे या नहीं, इस पर निर्णय के लिए बुधवार को अपने आवास में समर्थकों की अहम बैठक रखी गई है।

दूरभाष पर मंगलवार को भैया ने बताया कि पार्टी का निर्णय जनभावना के अनुरूप नहीं। इस निर्णय से कार्यकर्ताओं में असंतोष है। चुनाव कार्यकर्ता व जनता के बूते जीता जाता है, नेता चुनाव नहीं जिता सकते। प्रत्याशी घोषित करने में भाजपा का निर्णय जनता व कार्यकर्ताओं के आस्था पर कुठाराघात है। इसका खमियाजा भुगतना पड़ेगा। ऐसे में कार्यकर्ताओं व जनता की भावना के अनुरूप जो भी उचित निर्णय होगा वह लिया जाएगा। जामताड़ा विधानसभा की जनता क्या चाहती है यह समय के साथ पता चल जाएगा। भैया ने कहा कि बुधवार को उनके समर्थकों ने ही उनके आवास पर बैठक रखी है। बैठक में ही निर्णय लिया जाएगा कि चुनाव लड़ना है या नहीं। जनता व कार्यकर्ताओं का निर्णय पहले भी उनके लिए सर्वोपरि था आज भी है, कल भी रहेगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप