बाजार में स्टोन राखी की मांग तेज, राखियों से पटा दुकानें

संवाद सूत्र, करमाटांड़ (जामताड़ा) : रक्षाबंधन पर्व को लेकर बाजारों के रौनक में चमक आने लगी है। इस बार गुरुवार व शुक्रवार दो दिन रक्षाबंधन मनाया जाएगा। रंग-बिरंगे और आकर्षक राखियों से बाजार सजने लगा है। कोरोना काल के दो साल बाद इस बार लोगों में रक्षा बंधन को लेकर जबरदस्त उत्साह है। भाई-बहन के इस पर्व के लिए बहनें अभी से ही बाहर रहने वाले भाइयों के लिए राखी खरीद कर भेज रही है। बाजार में आकर्षक राखियों की मांग सबसे अधिक है। खासकर कोलकाता की बनी राखियों की अधिक मांग है। महंगाई के बावजूद बाजार में स्टोन, जरकन और मेटल की राखी, कलावा के साथ रुद्राक्ष के अलावा कई तरह का फैंसी राखी की मांग अधिक है। बाजार के अलावा मोहल्ले में भी राखियों की दुकानें खुली है। लेकिन सबसे अधिक दुकानें गणपत चौक बाजार में लगी है। जहां थोक से लेकर खुदरा राखी तक की बिक्री हो रही है। हालांकि महंगाई का असर रक्षा बंधन पर्व पर भी साफ दिखाई दे रहा है। राखियों के दाम में पिछले साल की तुलना में इस बार 20 प्रतिशत तक तेजी देखने को मिली है। बाजार में स्टोन राखियों की खूब बिक्री हो रही है। साथ ही स्टाइलिश राखियों, ब्रेसलेट, मोतियों, मेटल तथा भैया-भाभी राखी खूब बिक रही है। बच्चों के लिए बाजार में टैडी, छोटा भीम, डोरीमोम, पवजी कई तरह के राखियां है। करमाटांड़ बाजार स्थित स्थित राखी का थोक विक्रेता विकास गुप्ता ने कहा कि बाजार में थोक में एक रुपये से लेकर 130 रुपये तक राखी उपलब्ध है। वहीं खुदरा में राखी पांच रुपये से लेकर 200 रुपये तक में बिक रहा है। रक्षा बंधन को लेकर तीन महीने पूर्व से तैयारी शुरू कर देते है। मांग के अनुसार राखी कोलकाता व दिल्ली से आता है। 11 अगस्त को रात 8:25 बजे से रक्षा बंधन का मुहूर्त प्रारंभ होगा। भद्रा नामक दोष के कारण रक्षा बंधन रात 8:25 बजे के पहले नहीं हो सकता है।

Edited By: Jagran