जामताड़ा : जिले के किसानों को उत्पाद का उचित मूल्य सुनिश्चित करने, किसानों के कारोबार को उद्योग के रूप में विकसित करने साथ ही रोजगार सृजन का अवसर उपलब्ध कराने आदि विषयों पर परिचर्चा के साथ विभागों द्वारा संचालित कार्यों का जीवंत प्रदर्शन भी किया जाएगा। साथ ही सभी विभाग उद्यम समागम में अपना स्टॉल लगाएगा। सभी बैंक भी अपना अपना स्टॉल लगाना सुनिश्चित करे ताकि अधिकाधिक प्रचार-प्रसार हो सके। गुरुवार को प्रधानमंत्री रोजगार सृजन एवं उद्यम समागम की तैयारी बैठक को संबोधित करते हुए उपायुक्त गणेश कुमार ने उक्त बातें कही। डीसी ने कहा कि आगामी 27-28 सितंबर को स्थानीय गांधी मैदान में उद्यम समागम का आयोजन किया जाएगा। बैठक में उपायुक्त ने विश्व बांस दिवस के तहत आगामी 18-19 सितंबर को दुमका में बांस कारीगर मेला आयोजित करने की जानकारी दी। इसके लिए जामताड़ा से 32 कारीगर को मेला में भेजने की बात कही। जहां प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री रघुवर दास सभी बांस कारीगर को चेक देंगे। मौके पर डीसी ने सभी बैंकों को 17 सितंबर तक सारी सूची उपलब्ध कराने को कहा ताकि पीएमईजीपी के तहत ऋण देना सुनिश्चित किया जा सके। कारोबारियों को एक साथ लाने के लिए मेले का आयोजन : डीसी ने कहा कि बांस को खाद, इंधन, फाइबर, भवन निर्माण सामग्री और कई अनुप्रयोगों के साथ एक अक्षय संसाधन के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए बांस से जुड़े कारोबारियों को एक साथ लाने के लिए मेला का आयोजन किया गया है। इसके माध्यम से ईमानदारी से पौधारोपण, बांस के प्रसंस्करण, बांस के उत्पादों के विपणन और प्रौद्योगिकी उन्नयन और कौशल को निखारना उद्देश्य होगा।

प्रधानमंत्री रोजगार सृजन केंद्र सरकार की स्वरोजगार योजना है। पीएमईजीपी के तहत उद्योग लगाने पर 25 लाख और सेवा क्षेत्र में निवेश करने पर 10 लाख रुपया कर्ज मिलता है। सामान्य जाति के आवेदक को लोन की रकम पर 15 प्रतिशत सब्सिडी और आरक्षित जाति के आवेदकों को 25 प्रतिशत तक सब्सिडी देने का प्रावधान है। ग्रामीण इलाके में उद्योग लगाने पर सब्सिडी की यह रकम बढ़कर 25 से 35 फीसद तक बढ़ जाती है। केंद्र सरकार इस योजना के माध्यम से युवाओं में स्वरोजगार को बढ़ावा देना चाहती है। इसका उद्देश्य यह है कि लोग ग्रामीण कस्बाई या शहरी इलाके में छोटे-छोटे कारोबार शुरू कर एक तरफ जहां अपने जीवन यापन के लिए साधन बना सकते हैं, वहीं दो-चार लोगों को लगातार रोजगार का साधन भी उपलब्ध करा सकते हैं। मौके पर अग्रणी जिला प्रबंधक एसएल बैठा, जिला उद्योग के महाप्रबंधक अवध किशोर, जिला वन पदाधिकारी सुशील सोरेन, जिला शिक्षा पदाधिकारी बांके बिहारी सिंह, जिला कृषि पदाधिकारी सबन गुड़िया, जिला समन्वयक केनरा बैंक समेत विभिन्न बैंकों के प्रबंधक आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप