संवाद सहयोगी, नारायणपुर (जामताड़ा) : बारिश के कारण बराकर नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है। करमदाहा व घटियारी में पुल को छूकर पानी बह रहा है। चारों और पानी ही पानी दिखाई दे रहा है। प्रखंड क्षेत्र के कमलडीह के सुदाम रवानी, नयाडीह के गौतम मंडल व कालीपहाड़ी के काजल दत्ता के मिट्टी का घर बारिश की भेंट चढ़ गया है। इन लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

बारिश के कारण क्षेत्र में बिजली की आंखमिचौनी जारी है। कभी कुछ देर के लिए बिजली आती है फिर चली जाती है। लगातार हो रही बारिश और बिजली गुल रहने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है।

-व्यवसाय भी प्रभावित : दुर्गा पूजा के अवसर पर कपडा़ समेत अन्य दुकानों में वीरानी है। दुर्गा पूजा से 15 दिन पूर्व से ही बकरों का बाजार नारायणपुर में लगता था। इस वर्ष बारिश के कारण नहीं लग पाया है। नवमी में बकरे की बलि देने के लिए लोग हटिया में बकरे की खरीददारी करते थे।

------------

वीरान हैं बाजार की दुकानें

फतेहपुर : दैनिक मजदूरी व ठेला वाले को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। उनके रोजी-रोटी की जुगाड़ पर भी आफत बनी हुई है। बारिश के वजह से लोग घर में ही रहने को विवश हैं। बा•ारों में वीरानी छाई हुई है। दुर्गापूजा रहने के कारण वर्षा का असर कपड़ा व्यवसायियों पर भी पड़ रहा है। दुकानों में खचाखच भीड़ होनी चाहिए। दुकानदार ग्राहकों की राह देख रहे हैं। कपड़ा व्यवसायी राजेश मोदी, मानिक मोदी, अजय मेहरिया, अनूप मेहरिया, अरुण मंडल, अनिल मेहरिया ने कहा कि एक तो मंदी का दौर चल रहा है। उस पर यह बारिश आफत बनी हुई है। बारिश की वजह से ग्राहक नदारद है। दुर्गा पूजा के समय प्रकृति की मार झेलनी पड़ रही है। नए-नए डिजाइन के कपड़े दुकान में भरे पड़े हैं। लेकिन ग्राहक ही नहीं है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप