संवाद सहयोगी,जामताड़ा : त्याग व बलिदान के प्रतीक के रूप में मनाई जाने वाली बकरीद यानी कुर्बानी सोमवार को जिलेभर में परंपरागत ढंग से मनाने की तैयारियां पूरी कर ली गई है। मुस्लिम समुदाय ने इस पर्व में कुर्बानी के लिए बकरा सहित अन्य आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी की। मुस्लिम महिलाएं और बच्चों ने भी खूब खरीदारी की। देर शाम तक बाजार गुलजार रहा। लोगों ने अपनी हैसियत के मुताबिक बकरे की खरीदारी की है। कुर्बानी देने के बाद उसका अंश अपने परिवार व दोस्तों को खिलाने व गरीबों के बीच बांटने की भी परंपरा रही है। क्षेत्र के सभी ईदगाह व मस्जिदों के आसपास में साफ-सफाई का काम पूरा कर लिया गया है। लोग इस पर्व को मनाने के लिए एक माह पूर्व से ही उत्साहित थे। खरीदारी के लिए हाट-बाजार में सरगर्मी बढ़ी हुई थी। जबकि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में देर रात तक खरीदारी होती रही। कपड़े समेत अन्य घरेलू समानों की खरीदारी ज्यादा हुई।

--- नमाज के बाद कुर्बानी : लोगों ने विभिन्न हाटों व बाजारों में अच्छी नस्ल के बकरे की खरीदारी की है। इस वर्ष लोगों ने सात हजार से लेकर 25 हजार तक के बकरे की खरीदारी की है। बकरीद पर्व में तीन दिनों तक कुर्बानी का सिलसिला चलता रहेगा। ईदगाह कमेटी के सचिव मुस्ताक अंसारी ने बताया कि सोमवार की सुबह न्यू टाउन स्थित मुख्य ईदगाह में 8:30 बजे बकरीद की नमाज होगी। वहीं ग्रामीण क्षेत्र के ईदगाहों में कहीं 7:00 बजे तो कहीं 7:30 बजे बकरीद की नमाज अदा की जाएगी। उसके बाद सभी के घरों में कुर्बानी दी जाएगी। -- सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम : जामताड़ा थाना प्रभारी सह पुलिस निरीक्षक मनोज कुमार सिंह ने कहा कि पर्व के मद्देनजर प्रशासन की ओर से सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुख्ता इंतजाम किया गया है। संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों में दंडाधिकारी व पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। उन्होंने लोगों से शांति व सौहार्दपूर्ण तरीके से त्योहार मनाने की अपील की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप