जामताड़ा : आरपीएफ ने बुधवार को जामताड़ा रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की सुरक्षा, सुविधा के लिए संदिग्ध यात्रियों के खिलाफ धरपकड़ अभियान चलाया। जांच अभियान में आरपीएफ ने अप एवं डाउन रूट की विभिन्न ट्रेनों के महिला कोच से 13 यात्रियों को पकड़कर मधुपुर स्थित आरपीएफ न्यायालय भेज दिया। जहां निर्धारित जुर्माना वसूली कर अंतिम चेतावनी के साथ छोड़ा गया। मालूम हो कि ट्रेन में महिला एवं दिव्यांग के आवाजाही को लेकर आरक्षित कोच की सुविधा बहाल की गई है। लेकिन अनाधिकृत रुप से दिव्यांग एवं महिला कोच में सामान्य यात्री आवाजाही करते हैं इसी का परिणाम होता है की महिला कोच में पुरुष एवं दिव्यांग कोच में सामान्य यात्रियों का साम्राज्य बना रहता है। ऐसे में दिव्यांग व महिला यात्रियों को प्रदत्त सुविधा का लाभ नहीं मिल पाता है। वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर आरपीएफ जामताड़ा थाना के एसआइ मदन पासवान के नेतृत्व में एसआइ आरएस यादव, एएसएआइ पीके राय, एफ बरजो समेत आरपीएफ जवान की मौजूदगी में विभिन्न ट्रेन के महिला कोच का निरीक्षण बारी-बारी से किया गया। एसआइ ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा और सुविधा को देखते हुए रेलवे स्टेशन एवं ट्रेनों में चेकिग अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को दिव्यांग कोच में निरीक्षण किया गया। जबकि बुधवार की सुबह जामताड़ा रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ ने ट्रेनों के महिला कोच में चेकिग अभियान चलाया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप