जमशेदपुर : अपने आप को फिट और निरोग रखने के लिए लोग योग तो करते हैं लेकिन अधिकांश लोगों को यह पता नहीं होता कि उन्हें कौन सी योग करनी चाहिए। विभिन्न समस्याओं की अलग-अलग योग होती है। ऐसे में कई बार लोग गलत योग करते हैं और बाद में कहते हैं कि लाभ नहीं मिला। इसे लेकर लोगों को जागरूक होने की जरूरत है।

सोनारी की योग व रेकी एक्सपर्ट पूनम वर्मा आपको सबसे चर्चित योग के बारे में बता रही हैं, जिसे वर्ष 2021 में सबसे अधिक अपनाया गया। ये योग अलग-अलग बीमारियों के निदान में उपयोग किया जाता है। आइए जानते हैं विस्तार से।

किडनी स्टोन के लिए : अगर आपके किडनी में स्टोन हैं तो उससे घबराने की जरूरत नहीं है। इस दौरान आप कुछ योग कर सकते हैं, जिससे आपको तेजी से राहत मिलती है। इतना ही नहीं, अगर आपके स्टोन छोटी मात्रा में हो तो उसे आप योग के माध्यम से हटा भी सकते हैं। इस दौरान आपको उष्ट्रासन, उत्तानपादासन, पवनमुक्तासन, भुजंगासन, धनुरासन, गरुड़ आसन और अर्ध मत्स्येन्द्रासन का अभ्यास कर सकते हैं। यह किडनी स्टोन से छुटकारा दिलाने में मदद करता है।

फर्टिलिटी के लिए : अगर आपको फर्टिलिटी की समस्या हैं तो आप हठ, अयंगर और रेस्टोरेटिव सहित कोमल योग मुद्राओं से शुरुआत करें। यदि आप अधिक जोरदार योगा पोज करना चाहती हैं, तो आप बिक्रम, अष्टांग और विन्यास आजमा सकती हैं।

आंखों के लिए : आंखों की सेहत को दुरुस्त रखने के लिए आप अपने पलक को हमेशा झपकाते रहें। इसके साथ ही हथेली को झपकाना, बगल में देखना, आगे और बगल में देखना, ऊपर और नीचे देखना, निटक और दूर देखना और प्रारंभिक नाक की नोक की ओर देखें। ये योग काफी लाभदायक होते हैं और अॉप्टिक तंत्रिका के कामकाज को बढ़ाते हैं।

गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए : अगर आपको गैस की समस्या हैं तो आप आंख बंद कर पवनमुक्तासन, बालासन, पश्चिमोत्तानासन, सुप्त मत्स्येन्द्रासन, आनंद बालासन और हलासन आदि को अपने रूटीन में शामिल करें। इससे आपकी गैस की समस्या दूर हो जाएगी।

थायरॉयड के लिए : थायरायड की समस्या लगातार बढ़ रही हैं। ऐसे में आप शोल्डरस्टैंड, हलासन, मत्स्यासन, लेग अप वॉल पोज, मार्जरी आसन, नौकासन, उष्ट्रासन, भुजंगासन, धनुरासन और शवासन सहित कई तरह के योग कर इससे मुक्ति पा सकते हैं।

पीरियड्स पेन के लिए : पीरियड्स के दौरान दर्द तेज होता है। एेसे में योग सबसे बेहतर विकल्प है। पांच मिनट योग करके आप दर्द से राहत महसूस कर सकते हैं। इसके लिए आप बद्ध कोणासन, सुप्त बद्ध कोणासन, बालासन, उपविष्ठ कोणासन, विपरीत करणी और जानु शीर्षासन को आजमा सकती हैं।

फेफड़ा के लिए : कोरोना काल में सांस लेने की परेशानी लोगों को सबसे अधिक हुई। इससे बचने के लिए नियमित योग बहुत जरूरी है। अपने फेफड़ें को मजबूत रखने के लिए आप धनुरासन, हस्त उत्तानासन, उष्ट्रासन, अर्ध चंद्रासन और चक्रासन योग मुद्राएं कर सकती हैं।

Edited By: Jitendra Singh