जमशेदपुर, जेएनएन। वह नशे में इस कदर हैवान बन गया कि खून का इल्जाम अपने सिर ले लिया। खून किसी दूसरे का नहीं, उस मां का जिसने नौ महीने तक कोख में पाला, जन्म देकर पाला-पोसा और उसकी तमाम नालायकी को दरकिनार कर बुढ़ापे में भी दो जून की रोटी देती रही। इंसानियत को शर्मशार करनेवाली यह घटना पूर्वी सिंहभूम के मुख्यालय जमशेदपुर से सटे कोवाली थाना इलाके की है। तेतलडीह गांव में एक बेटे ने अपनी मां को आधी रात पटक कर मार डाला। मां का कसूर सिर्फ इतना था कि रोज की तरह यह समझाने की कोशिश की कि इस कदर नशे में डूबे रहना ठीक नहीं।

सुबह पड़ोसी ने देखी लाश

बेटा मां को पटक कर पीटने के बाद नींद के आगोश में चला गया, इस हकीकत से बेखबर कि उसकी मां चिरनिद्रा में सो चुकी है। सुबह उसकी नींद खुली तो पाया कि मां अब इस दुनिया में नहीं रही, लेकिन उसने यह बात किसी से नहीं बताई और इस तरह गांव में घूमता- ि‍फरता रहा कि सबकुछ सामान्य है। गांव वालों को हकीकत का पता तब चला जब पड़ोस की एक महिला वृद्धा को किसी काम से खोजने घर पहुंची। उसने अन्य लोगों को सूचना दी और उसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस तत्काल गांव पहुंची और शव को कब्‍जे में लेने का साथ खून करने के आरोपित बेटे को गिरफ्तार कर लिया।

बराबर होती थी कलह, मां को पीटता था

पुलिस ने थाने लाकर जब प्रदीप बहादुर से सख्ती से पूछताछ की तो उसने पूरी कहानी बयां की। उसने बताया कि उसके पिता की मौत हो चुकी है। वह मां सुलोचना बहादुर के साथ ही रहता था। शुक्रवार की देर रात घर आया तो नशे में था। मां ने इस बारे में नाराजगी जताई तो वह क्रोधित हो गया और आपा खो बैठा। उसने मां को पटक दिया और मारपीट की। उसके बाद वह सो गया। सुबह उठा तो देखा कि मां मर चुकी है।  

इलाका है नशे की जद में

 जिस इलाके में यह घटना घटी, यहां नशे का सेवन करनेवालों की तादात अच्छी-खासी है। नशे में विवाद और झगड़ा-झंझट रोजमर्रा में शुमार है। हालांकि, इस तरह की घटना पिछले दिनों नहीं हुई है। पड़ोसियों ने बताया कि वह हमेशा नशे में रहता था और मां समझाती थी तो मारपीट करता था। लोग बीच-बचाव करते थे। लेकिन शुकवार की देर रात घटना हुई इस कारण किसी को पता नहीं चली। सुबह में पता चलने पर ग्राम प्रधान के माध्मम  से पुलिस को सूचना दी गई।

 ये भी पढ़ें: ये विधायक हैं जरा दूजे किस्म के, अबकी मारपीट कर वर्क्स शॉप से उठा ले गए वाहन

 

Posted By: Rakesh Ranjan

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस