जमशेदपुर (जागरण संवाददाता)। Karva Chauth 2019 कदमा के रामदास भïट्टा, आर्या समाज स्कूल, गोलमुरी के रिफ्यूजी कालोनी स्थित कृष्णा मंदिर, बस्ती व कालोनियों के घरों में गुरुवार को करवा चौथ के अवसर पर शिव-पार्वती व गणेश की पूजा की गई। पूजा के दौरान कृष्णा मंदिर के पुजारी संतोष कुमार त्रिपाठी ने सात भाई और एक बहन की कथा व्रतधारी महिलाओं को सुनाई। जिसके बाद ग्र्रुप में बैठी महिलाओं ने बारी बारी से अपनी अपनी थालियों को बदला। कृष्णा मंदिर में रिफ्यूजी कालोनी और आस- पास की व्रतधारी महिलाओं भी आती है। जिसके कारण एक ग्र्रुप में 15 से 16 महिलाएं  गोलाकार में बैठती है। गुरुवार की शाम पंडित संतोष कुमार त्रिपाठी ने ग्र्रुप में बैठी महिलाओं को बारी बारी से कथा सुनाई। कथा सुनाने के बाद मंत्रोचारण के बीच इन व्रतधारी महिलाओं अपनी अपनी थालियों को एक दूसरे से बदला।  

मंदिर कमेटी ने बांटी साढ़े चार सौ चुनरी 

रिफ्यूजी कालोनी स्थित कृष्ण मंदिर कमेटी ने दो दिन पहले करीब चार सौ चुनरी महिलाओं के बीच बांटी। वहीं करवा चौथ वाले दिन मंदिर परिसर में व्रतधारी महिलाएं वही चुनरी पहन कर पूजा के लिए पहुंची थी। 

रामदास भट्ठा में की सामूहिक पूजा

कदमा रामदास भïट्ठा में गुरुद्वारा के समीप सामूहिक रुप से 25-30 महिलाओं ने शिव पार्वती व गणेश की पूजा की। व्रतधारी महिलाओं को सात भाई व एक बहन की कहानी भी पंडित ने सुनाई। व्रतधारी अमृत कौर ने बताया कि पहले यहां महिलाओं की संख्या कम थी तो घर के छत पर पूजा की जाती थी। लेकिन धीरे धीरे संख्या बढऩे लगी तो सार्वजनिक रुप से टेंट लगाकर महिलाओं ने करवा चौथ में पूजा अर्चना की। 

सोलह श्रृंगार कर घर से निकली महिलाएं

व्रतधारी महिलाएं पूजा करने के लिए अपने अपने घरों से सोलह श्रृंगार कर मंदिर परिसर तक गई। इस दौरान व्रतधारी महिलाओं ने अपने हाथों में पूजा की थाल व जलता दिया लेकर मंदिर तक पहुंची। 

सरगी खाकर की व्रत की शुरुआत

गुरुवार की सुबह चार बजे करवा चौथ का व्रत व्रतधारी महिलाओं ने आरंभ किया। इस दौरान सुबह सवेरे उठकर नहा धोकर अपने सास-ससुर के पांव छूकर आर्शीवाद लिया। फिर सरगी खाकर व्रत की शुरुआत की। सरगी में फल, सूखे मेवे, मिठाई , सेवाई पुड़ी का इस्तेमाल व्रतधारी महिलाओं ने किया। 

चंद्रमा को अघ्र्य देकर व्रतधारियों ने खोला व्रत

पूजा अर्चना के बाद व्रतधारी महिलाएं चंद्रमा निकलने का इंतजार में बैठी रही। रात में जैसे ही चांद निकला। सज धज कर बैठी व्रतधारी महिलाओं ने चांद के दर्शन किये। व्रतधारी महिलाएं एक थाली को सजा कर अपने छत, आंगन व जहां से चांद दिखाई दे वहां पहुंचे। थाली में दिया जल रहा था। चांद को अघ्र्य देने के बाद व्रतधारी महिलाओं ने छलनी से चांद को देखा फिर उसी छलनी से अपने पति की सूरत देखी और पति ने अपने हाथों से पत्नी को पानी पिलाकर व्रत खोलवाया। फिर पत्नी ने पति के पांव छूकर उनका आर्शीवाद लिया। फिर अपने सास ससुर के पांव छुए और उन्हें स्वादिष्ट भोजन करवाया और खुद भी खाया।  

वीडियो कालिंग से भी हुए पति के दर्शन

इस बार करवा चौथ में अत्याधुनिक तरीकों का भी इस्तेमाल किया गया। जिस व्रतधारी महिलाओं के पति विदेश में या दूसरे शहरों में करवा चौथ के दिन गये हैं। वैसे व्रतधारी महिलाओं ने चांद देखने के बाद अपने पतियों के दर्शन मोबाइल की मदद से वीडियो कालिंग के माध्यम से की। वहीं कुछ महिलाओं ने तो अपने पति के फोटों से ही काम चला लिया और कुछ ने तो उनकी आवाज सुनकर ही अपना व्रत खोला।  

72 वर्षीय की राज शर्मा ने रखा करवा चौथ

रामदास भट्ठा निवासी 72 वर्षीय राज शर्मा ने अपने 80 वर्षीय पति सोमदत्त शर्मा के लिए करवा चौथ का व्रत रखा और पूरे रीति रिवाज के साथ पूजा अर्चना की। राज शर्मा ने बताया कि वह पिछले 15 वर्षो से रामदास भïट्टा में आकर रह रही है। वह पिछले 55 वर्षो से करवा चौथ का व्रत रख रही है। उनकी तीन बेटी और एक  बेटा है। सभी की शादी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि करवा चौथ का व्रत प्रत्येक शादी शुदा महिलाओं को अपने पति की लंबी उम्र के लिए रखना चाहिए। 

75 वर्षीय विमला ने रखा करवा चौथ

रिफ्यूजी कालोनी निवासी 75 वर्षीय विमला बब्बर ने पति जगदीश बब्बर के लिए करवा चौथ का व्रत गुरुवार को रखा। वे पिछले 60 वर्षो से पति के लिए व्रत रखती आ रही है। विमला बब्बर ने बताया कि सुगाहिनों के लिए यह महापर्व की तरह है। इससे बड़ा पर्व कोई नहीं हो सकता, जब अपने  पति की लंबी उम्र की लिए पत्नियां व्रत रखती हो। 

वीडियो कालिंग से हुआ पति का दीदार

बिष्टुपुर निवासी रुपा कौर के पति अमर सिंह व्यापार के सिलसिले में गुरुवार को रांची में है। जिसके कारण रुपा ने वीडियो कालिंग के माध्यम से पति के दर्शन कर अपना व्रत खोला। 

साकची निवासी मनप्रीत कौर के पति व्यवसाय के सिलसिले में पंजाब गए है। लेकिन करवा चौथ का व्रत मनप्रीत कौर ने रखा है। चांद निकलते ही मनप्रीत ने पति का दीदार वीडियो कालिंग के माध्यम से कर उनका आर्शीवाद लिया और अपना व्रत खोला। 

Posted By: Vikas Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस