सरायकेला, जासं। उमस भरी प्रचंड गर्मी से जहां लोग परेशान हैं, वहीं कहीं कहीं लोगों में पेयजल को लेकर हाहाकार मची है। कुछ इस तरह राजनगर चांगुवा हरिजन बस्ती का हाल है। चांगुवा में हरिजन बस्ती में 35 परिवार एक सोलर पानी टँकी पर निर्भर हैं। गांव में मुखिया फंड से लगा एक अन्य सोलर टँकी काफी दिनों से खराब पड़ा हुआ है, जिससे देखने वाला कोई नहीं है। गांव के लोग मजबूरन एक ही पानी टंकी से प्यास बुझाने पर विवश हैं।

हरिजन टोला में पानी की भारी किल्लत

हरिजन बस्तीवालों ने बताया कि हरिजन टोला में पानी को लेकर भारी किल्लत है। एक सोलर टंकी तो खराब पड़ा हुआ है, इसके अलावे ग्रामीण खुद से एक चापाकल में मोटर लगाकर व सिंटेक्स लगाकर पानी का उपयोग कर रहे थे।जिसे एक दिन बिजली विभाग के अधिकारियों ने अवैध बिजली कनेक्शन कर समरसेबल चलाये जाने के नाम पर बिजली काट दी। जिससे वह अब बंद पड़ा है। फिर ग्रामीणों ने निवर्तमान मुखिया गणेश देवगम से निरंजन महतो के घर के सामने चापाकल में सोलर टंकी लगवाने की बार बार मांग की, परंतु मुखिया ने कोई बात नहीं सुनी अंततः बीडीओ साहब से मुलाकात कर हरिजन टोला में मुखिया फंड से ही सोलर टँकी लगवाया। परंतु ग्रामीणों ने नेम प्लेट लगाने आये मुखिया को अपना नाम लिखवाने से मना कर दिया। आज इसी टंकी पर हरिजन बस्ती में रहने वाले 35 परिवार पेयजल का उपयोग कर रहे हैं। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि अभी हाल ही में हर घर नल जल योजना से संचालित जलापूर्ति का भी कोई ठिकाना नहीं है। कभी पानी मिलता है तो कभी नहीं।

कब खत्म होगी पानी की समस्या

एक तरफ गर्मी और दूसरी ओर पानी की किल्लत ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है। हालात ऐसे हैं, कि लोगों को पानी के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। ये हाल सिर्फ हरिजन टोला का ही नहीं, बल्कि कमोवेश आसपास के कई गांवों में है। जिससे स्थानीय लोगों को पानी की समस्या से दो चार होना पड़ रहा है।

Edited By: Madhukar Kumar