पोटका, जागरण संवाददाता। झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के पोटका थाना क्षेत्र के सानग्राम पंचायत के रायपुर तालाब के समीप अनियंत्रित होकर मजदूरों से भरा वाहन पलट गया। इस हादसे में नौ मजदूर घायल हो गए जिनमें एक मजदूर की मौत हो गई। वाहन पर 10 मजदूर सवार होकर जमशेदपुर ठेकेदार के अंदर में कार्य करने के लिए जा रहे थे। घटना के बाद नाराज ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग को लेकर पोटका- देवली सड़क को जाम कर दिया।

घटना के संबंध में बताया जा रहा है कि मंगलवार की दोपहर के एक बजे पोटका थाना क्षेत्र के आमला तोला पंचायत के सोनागाड़ा एवं बरगी कोचा से मजदूरों को वाहन से जमशेदपुर ले जाया जा रहा था। इस दौरान रायपुर तालाब के समीप ड्राइवर वाहन से नियंत्रण खो बैठा। बीच सड़क पर वाहन के चार बार पलट जाने से वाहन में सवार शंभू धीर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

पांच घायलों को जमशेदपुर किया गया रेफर

घटना की सूचना लखींद्र सरदार द्वारा पोटका पुलिस एवं एंबुलेंस को दी गई जिसके बाद तत्काल हाईवे पेट्रोल एवं एंबुलेंस की मदद से घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया जहां बाबूलाल सरदार, पुयतू सरदार, किसुन सरदार, विश्वनाथ सरदार, हलधर सरदार की स्थिति की गंभीरता को देखते हुए एमजीएम रेफर कर दिया गया वही सिरम सरदार, षष्ठी सरदार, भगवान सरदार आदि का स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र में इलाज चल रहा है। वाहन में ड्राइवर समेत दस मजदूर सवार होकर जमशेदपुर आ रहे थे। घटना में ड्राइवर भी गंभीर रूप से घायल हो गया है जिन्हें एमजीएम रेफर कर दिया गया है।

दुर्घटना के बाद मची अफरातपफरी

घटना के बाद अफरा-तफरी मच गई वहीं परिजनों का रो -रो कर बुरा हाल है। स्थानीय लोगों की मदद से घायलों को स्वास्थ्य केंद्रों तक भेजा गया। दुर्घटना के बाद बचाव कार्य में हाईवे पेट्रोल का सराहनीय योगदान रहा। हाईवे पेट्रोल वाहन से घायलों को अस्पताल तक लाया गया। घटना के बाद नाराज ग्रामीणों ने पोटका- देवली सड़क को जाम कर रखा है। पिछले चार घंटे से मुआवजे की मांग को लेकर स्थानीय लोगों ने सड़क जाम कर दिया है।

Edited By: Rakesh Ranjan