संवाद सूत्र, पोटका : कोवाली में शनिवार को सासद विद्युत महतो व विधायक मेनका सरदार ने संयुक्त रूप से 71 करोड 80 लाख 75 हजार 758 रुपये की लागत से बनने वाली दो मुख्य सड़कों का शिलान्यास किया। पहली योजना में 16 करोड़ 30 लाख 15 हजार 234 रुपये रुपये की लागत से कोवाली से लायलंम घाटी (ओड़िशा बॉर्डर तक) तक 6.275 लंबी सड़क बनायी जाएगी। सड़क निर्माण की जिम्मेदारी जमशेदपुर के केके बिल्डर्स को दिया गया है।

वही दूसरी सड़क कोवाली से हरिणा होते हुए डुमरिया तक बनायी जाएगी। 32.8 किलोमीटर लंबी सड़क के निर्माण पर 55 करोड 50 लाख 60 हजार 524 रुपये खर्च किए जाएंगे। यह कार्य पथ निर्माण विभाग से होना है। इसका ठेका ज्वाईट वेचर जमशेदपुर को मिला है। बता दें कि सड़क निर्माण के लिए सड़क के दोनों किनारे लगे पेड़ों की कटाई एवं चौड़ीकरण का कार्य शुरू कर दिया गया है। इसके साथ ही सडक निर्माण के लिए क्षेत्र के 29 मौजा की जमीन अधिग्रहण की प्रक्रिया भी शूरू हो गयी है। जिसमें जमीन की वर्तमान दर से चार गुणा ज्यादा दर से भूमि को मुआवजा सरकार रैयतदारों को देगी। सड़क निर्माण दो साल में किया जाना है।

शनिवार को शिलान्यास के मौके पर सांसद विद्युत महतो, विधायक मेनका सरदार, विधायक प्रतिनिधि विभीषण सरदार, जिला परिषद सदस्य संजीव सरदार, पथ निर्माण विभाग के सहायक अभियंता चंद्रशेखर गुप्ता, कनीय अभियंता उमेश्व राम, रंजित कुमार यादव, भाजपा नेता खेलाराम बेसरा, फागू बेसरा पिंटू षाडंगी, दुलाल गोप समेत दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे।

----------------------

चाकुलिया बनेगा वृद्धा आश्रम, शिलान्यास आज

पोटका : बहरागोड़ा प्रखंड के चाकुलिया के बेंद गांव में वृद्धाआश्रम बनाया जाएगा। इसका शिलान्यास रविवार को दस बजे बहरागोड़ा विधायक कुणाल षाड़ंगी करेंगे। यह जानकारी मां तारा एडुकेशनल एंड वेलफेयर ट्रस्ट के महासचिव विद्या किशोर उपाध्याय ने दी।

------------------------

विधायक ने किया आदिवासी कला एवं सांस्कृतिक भवन का शिलान्यास

संवाद सूत्र, नीमडीह : प्रखंड के टेंगाडीह में समेकित जनजाति विकास अभिकरण द्वारा जनजातिय क्षेत्रीय उपयोजना अंतर्गत 12 लाख 27 हजार सात सौ रुपये की लागत से आदिवासी कला एवं सांस्कृतिक भवन का शिलान्यास शनिवार को विधायक साधुचरण महतो ने किया। विधायक ने कहा कि आदिवासी सांस्कृतिक परंपरा को बचाये रखने के लिए सरकार की ओर से यह पहल की गयी है। विधायक ने कहा कि भवन जाने से क्षेत्र के आदिवासी कलाकारों को अपनी कला प्रदर्शन का मंच मिलेगा। इसके साथ ही यह भवन आदिवासी सभ्यता व संस्कृति के संरक्षण व विकास की रणनीति में भी कारगर होगा। इस मौके पर मुखिया बालिका देवी, कालीपद गोप, कला सास्कतिक लाभुक समिति टेंगाडीह के अध्यक्ष करमू सिंह सरदार, सचिव फणीभूषण सिंह, भोलानाथ हासदा, रंजित माहली, नवीन सिंह, चरण सिंह, छुटू सिंह समेत दर्जनों लोग मौजूद थे।

Posted By: Jagran